जयपुर: वजीफे में वृद्धि को लेकर MBBS प्रक्षिशु डॉक्टरों का धरना जारी

Smart News Team, Last updated: 16/10/2020 10:31 PM IST
  • जयपुर में सरकारी मेडिकल कॉलेज के एमबीबीएस प्रक्षिशु डाक्टर का वजीफा बढ़ाने की मांग को लेकर धरना जारी है. अपनी मांग को लेकर कई प्रशिक्षू डॉक्टर जहां भूख हड़ताल पर बैठ गए हैं तो वहीं कई प्रशिक्षू डॉक्टर अन्य अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बैठे हैं.
सरकारी मेडिकल कॉलेज के एमबीबीएस प्रशिक्षु डाक्टरों का वजीफा बढ़ाने की मांग का मुद्दा बढ़ता ही जा रहा है

जयपुर: जयपुर में सरकारी मेडिकल कॉलेज के एमबीबीएस प्रक्षिशु डाक्टरों का वजीफा बढ़ाने की मांग का मुद्दा बढ़ता ही जा रहै है. इस मांग को लेकर कुछ प्रक्षिशु डाक्टरों ने यहां आंदोलन करना भी शुरू किया है. अपनी मांग को लेकर कई प्रशिक्षू डॉक्टर जहां भूख हड़ताल पर बैठ गए हैं तो वहीं कई प्रक्षिशु डॉक्टर अन्य अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बैठे हैं. बता दें कि प्रक्षिशु डॉक्टर्स को केवल 7000 रपुये प्रतिमाह ही वजीफा दिया था, जिसमें कई सालों से वृद्धि नहीं हुई थी. इस बात को लेकर प्रक्षिशु डॉक्टर हड़ताल पर बैठे हैं.

अखिल राजस्थान प्रक्षिशु डाक्टर एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. विनय प्रकाश शर्मा ने कहा कि प्रशिक्षु या जूनियर रेजिडेंट को 7000 रुपये प्रतिमाह वजीफा दिया जाता है और उसमें भी कई साल से बढ़ोतरी नहीं की गयी है. उन्होंने कहा कि यह राशि अन्य राज्यों की तुलना में सबसे कम है. उन्होंने इस बारे में आगे बताया कि अन्य राज्यों में प्रशिक्षु डाक्टरों को 30000 रुपये प्रति माह तक का वजीफा मिलता है जबकि राजस्थान में यह सिर्फ 7000 रुपये है. इसे बढ़ाकर 30000 रुपये प्रति माह किया जाना चाहिए.

नगर निगम चुनाव 2020: जयपुर में 3 से 4 हजार वोट पाकर बन जाएंगे पार्षद

अखिल राजस्थान प्रक्षिशु डाक्टर एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. विनय प्रकाश शर्मा ने आगे कहा कि राज्य के आठ सरकारी मेडिकल कॉलेज में 1350 एमबीबीएस प्रक्षिशु हैं जिनमें से 50 आंदोलन में शामिल हैं जबकि बाकी काम कर रहे हैं. बताया जा रहा है कि जयपुर के एसएमएस मेडिकल कॉलेज के बाहर जहां पांच प्रक्षिशु डाक्टर अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठे हैं तो वहीं, 40 अन्य अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बैठे हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें