जयपुर: मंत्री शाले मोहम्मद ने कहा- समस्याएं जल्द निपटाने की आदत डालें अधिकारी

Smart News Team, Last updated: Mon, 25th Jan 2021, 8:05 PM IST
  • राजस्थान के अल्पसंख्यक मामलात, वक्फ एवं जन अभियोग निराकरण मंत्री शाले मोहम्मद ने मोहनगढ़, जैसुराना, हैयातपुरा, दूधिया आदि ग्रामीण अंचलों का दौरा किया. मंत्री ने ग्रामीणों से सरकार की लोक कल्याणकारी योजनाओं एवं सामुदायिक उत्थान के कार्यक्रमों का फीडबैक लिया और उनकी समस्याएं भी सुनीं.  
ग्रामीण क्षेत्र के दौरे के दौरान मंत्री शाले मोहम्मद

जयपुर. अल्पसंख्यक मामलात, वक्फ एवं जन अभियोग निराकरण मंत्री शाले मोहम्मद ने जनसुनवाई के दौरान विभिन्न विभागों के अधिकारियों से कहा कि वे जनता की समस्याओं के समाधान के लिए आदत डालें कि ये समस्याएं जल्द से जल्द निपट जाएं. साथ ही कहा कि जन समस्याओं से ग्रामीण जनता को राहत दिलाना सरकार की प्राथमिकता है. सरकार ने इसके लिए ठोस प्रबंधन तंत्र विकसित किया हुआ है, जिससे लोक समस्याओं के त्वरित निस्तारण की गति तेज हुई है तथा सुशासन की दिशा में बेहतर काम हो रहा है. 

अल्पसंख्यक मामलात मंत्री ने जैसलमेर जिले के विभिन्न ग्रामीण क्षेत्रों में जन सुनवाई करते हुए यह बात कही. शाले मोहम्मद ने मोहनगढ़, जैसुराना, हैयातपुरा, दूधिया आदि ग्रामीण अंचलों का दौरा किया. मंत्री ने ग्रामीणों से सरकार की लोक कल्याणकारी योजनाओं एवं सामुदायिक उत्थान के कार्यक्रमों का फीडबैक लिया और उनकी समस्याएं भी सुनीं. उन्होंने किसानों को आश्वस्त किया कि सरकार किसानों के हितों को देखते हुए कृषक कल्याण तथा खेती-बाड़ी से जुड़ी गतिविधियों में भरसक कोशिशों में कभी कोई कमी बाकी नहीं रखेगी. इस दौरान किसानों ने पेयजल एवं सिंचाई के लिए पानी, टेल तक पानी नहीं पहुंचने आदि की समस्या से अवगत कराया. इसके साथ ही बालिका विद्यालय को उच्च माध्यमिक विद्यालय में क्रमोन्नत करने, मोहनगढ़ में कॉलेज खुलवाने आदि का आग्रह किया. 

जयपुर: ट्रैक्टर परेड में महिला चालकों ने संभाली कमान, किसानों में दिखा जोश

अल्पसंख्यक मामलात मंत्री ने अधिकारियों को फोन कर ग्रामीणों की समस्याओं को त्वरित समाधान के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए. उन्होंने उपस्थित किसानों को प्रदेश सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं की दी जानकारी दी और इनका लाभ पाने के लिए पूरी जागरुकता के साथ आगे आने तथा अन्य किसानों तक भी योजनाओं का लाभ पहुंचाने में भागीदारी निभाने का आह्वान किया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें