पाकिस्तान ISI के हनी ट्रैप में फंसकर सेना की खूफिया जानकारी लीक कर रहा था रेलवे डाक कर्मचारी, गिरफ्तार

ABHINAV AZAD, Last updated: Sat, 11th Sep 2021, 12:35 PM IST
  • पाकिस्तानी गुप्तचर एजेन्सी की महिला एजेन्ट की हनीट्रैप में फंसकर जयपुर के रेलवे डाक सेवा के एमटीएस कर्मचारी भरत बावरी ने सेना के कई दस्तावेज लीक करता था.
(प्रतिकात्मक फोटो)

जयपुर. हनीट्रैप में फंसकर भारतीय सेना के महत्वपूर्ण और गोपनीय दस्तावेजों को लिक करने के आरोप में जयपुर के रेलवे डाक सेवा के एमटीएस कर्मचारी भरत बावरी (27) को गिरफ्तार किया गया है. शुक्रवार की दोपहर मिलिट्री इंटेलिजेंस दक्षिणी कमान और स्टेट इंटेलिजेंस की संयुक्त कार्रवाई में रेलवे डाक सेवा के एमटीएस कर्मचारी को गिरफ्तार किया है.

पुलिस इंटेलिजेंस के महानिदेशक उमेश मिश्रा ने कहा कि पाकिस्तानी गुप्तचर एजेन्सी की महिला एजेन्ट की हनीट्रैप में फंसकर जयपुर के रेलवे डाक सेवा के एमटीएस कर्मचारी भरत बावरी ने सेना के कई दस्तावेज लीक करता था. उन्होंने कहा कि एमटीएस कर्मचारी भरत बावरी भारतीय सेना के जरूरी दस्तावेजों की फोटो खीच कर वाट्सएप के माध्यम से पाकिस्तानी गुप्तचर एजेन्सी की महिला एजेन्ट को भेजता था. उन्होंने कहा कि आरोपी को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है.

राजस्थान में बिना टिकट यात्रा करने वालों पर सरकार का शिकंजा, इतने गुना बढ़ी जुर्माना राशि

विभिन्न एजेन्सियों की पूछताछ में आरोपी एमटीएस कर्मचारी ने बताया कि वो जोधपुर के खेडाप गांव का रहने वाला है. पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वो तीन साल पहले एमटीएस की परीक्षा पास करके रेलवे डाक सेवा की जयपुर स्थित कार्यालय में आया था. उसने बताया कि वहां वह आने जाने वाली डाक की छटनी करने का काम करता था. पुलिस शासकीय गुप्त बात अधिनियम 1923 के तहत मामला दर्ज किया है. दरअसल, चार पांच महिने पहले एमटीएस कर्मचारी भरत बावरी के फेसबुक मैसेंजर पर एक महिला का मैसेज आया था. फिर दोनो में चैटिंग होने लगी और मामला ऑडियो कॉल और विडियो कॉल तक पहुंच गया. दरअसल पाकिस्तानी गुप्तचर एजेन्सी की महिला एजेन्ट ने भरत बावरी को अपना नाम छदम बताया था. महिला एजेन्ट ने अपने आप को पोर्ट ब्लेयर में नर्सिंग के बाद एमबीबीएस की तैयारी करने वाला बताया था. बाद में पाक महिला एजेन्ट ने आरोपी भरत बावरी से जयपुर आकर मिलने और साथ धूमने का वादा कर सेना के कई दस्तावेजों की फोटो वाट्सएप पर मंगवाया करती थी. आरोपी जयपुर के रेलवे डाक सेवा के एमटीएस कर्मचारी भरत बावरी के फोन की वास्तविक जांच में कई राज निकल कर आए हैं. महिला ने एमटीएस कर्मचारी को पूरी तरह मोह के जाल में फंसा लिया था. मोहजाल में फंसे आरोपी चोरी छिपे गोपनीय डाक पत्रों के लिफाफे खोलकर पत्रों की फोटो खींचकर वाटस्एप से भेजा करता था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें