नगर निगम चुनाव 2020: जयपुर में 3 से 4 हजार वोट पाकर बन जाएंगे पार्षद

Smart News Team, Last updated: 14/10/2020 09:35 PM IST
  • राजस्थान में होने वाले नगर निगम चुनाव के लिए जहां जोधपुर और कोटा में जहां डेढ़ से दो हजार वोट लाने पर ही उम्मीदवार पार्षद बन सकेगा तो वहीं जयपुर में पार्षद बनने के लिए प्रत्याशी को करीब तीन से चार हजार तक वोट लाने का संघर्ष करना पड़ेगा.
 जयपुर में पार्षद बनने के लिए चाहिए 3 से 4 हजार वोट

जयपुर: राजस्थान में होने वाले नगर निगम चुनाव के लिए जहां जोधपुर और कोटा में जहां डेढ़ से दो हजार वोट लाने पर ही उम्मीदवार पार्षद बन सकेगा तो वहीं जयपुर में पार्षद बनने के लिए प्रत्याशी को करीब तीन से चार हजार तक वोट लाने का संघर्ष करना पड़ेगा.

Detail- 14 अक्टूबर, 2020: जयुपर, जोधपुर और कोटा में होने वाले नगर निगम चुनाव को लेकर तैयारियां शुरू हो चुकी हैं. जल्द ही नामांकन की प्रक्रिया भी शुरू होने वाली है. इसी बीच बताया जा रहा है कि जोधपुर और कोटा में जहां डेढ़ से दो हजार वोट लाने पर ही उम्मीदवार पार्षद बन सकेगा तो वहीं जयपुर में पार्षद बनने के लिए प्रत्याशी को करीब तीन से चार हजार तक वोट लाने का संघर्ष करना पड़ेगा.

प्यार, लव मैरिज, विरोध, परिवार: कुमार विश्वास और मंजू शर्मा की फिल्मी लव स्टोरी

जयपुर, जोधपुर और कोटा में साल 2014 में प्रति वार्ड औसत वोटर की संख्या करीब 15 से 20 हजार थे, जो कि अब 2020 के चुनाव में प्रति वार्ड 6426 हो चुकी है. जयपुर में प्रति वार्ड वोटर की संख्या जोधपुर और कोटा से दोगुनी है. ऐसे में अगर जोधपुर और कोटा जैसे शहरों में 70 प्रतिशत भी वोटिंग होती है तो वहां दो हजार वोटरों से ही काम चल जाएगा. वहीं, जयपुर में पार्षद बनने के लिए प्रत्याशी को तीन से चार हजार वोटों के लिए संघर्ष करना पड़ेगा.

राजस्थान में होने वाले इन नगर निगम चुनाव को लेकर पार्टी के नेता 70 प्रतिशत वोटिंग को आधार मानकर अपना गणित तैयार कर रहे हैं. यदि जयपुर हैरिटेज में 70 प्रतिशत वोटिंग होने पर प्रति वार्ड 6500 वोट पड़ते हैं तो ऐसे में वहां तीन से चार हजार वोट लाने वाले प्रत्याशी की आसानी से जीत हो जाएगी. हैरिटेज से इतर जयपुर ग्रेटर में भी प्रति वार्ड 5700 वोट पड़ेंगे. ऐसे में ढाई हजार से तीन हजार वोट लाने प्रत्याशी की जीत तय होगी.

जोधपुर की बात करें तो जोधपुर उत्तर में 70 प्रतिशत वोटिंग होने पर करीब 3400 वोट पड़ेंगे, जिससे 1800 पाने वाले प्रत्याशी की जीत तय होगी. वहीं, दक्षित जोधपुर में प्रति वार्ड तीन हजार वोट पड़ेंगे, जिससे वहां 1500 से 1600 वोट पर ही जीत मिलेगी. इससे इतर कोटा उत्तर में 3300 वोट पड़ने पर 1700-1800 वोट वाले प्रत्याशी की जीत होगी और कोटा दक्षिण में 3300 पड़ने पर 1700 से 1800 वोट पाने वाला प्रत्याशी जीत का हकदार होगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें