जयपुर में दवा कंपनी पर NCB टीम की रेड, प्रतिबंधित केमिकल बरामद, कारोबारी अरेस्ट

Smart News Team, Last updated: Sat, 26th Dec 2020, 3:58 PM IST
  • जोधपुर नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो टीम ने गोपनीय सूचना पर जयपुर की दवा फर्म पर छापामारी की. टीम को पता चला है कि प्रतिबंधित केमिकल अहमदाबाद से खरीदा गया था. कंपनी संचालक को गिरफ्तार कर नेटवर्क का पता करने में एनसीबी की टीम में जुटा हुआ है.
एनसीबी की टीम ने दवा कंपनी पर रेड कर प्रतिबंधित केमिकल बरामद कर संचालक को गिरफ्तार किया है (प्रतीकात्मक तस्वीर)

जयपुर. नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) जोधपुर की टीम ने जयपुर की एक दवा निर्माता कंपनी पर छापा मारकर कार्रवाई की है. एनसीबी की टीम ने छापामारी के दौरान प्रतिबंधित केमिकल बरामद करके कंपनी के संचालक को गिरफ्तार कर लिया है. एनसीबी ने छापामारी के दौरान कंपनी से 21 किलो से ज्यादा प्रतिबंधित केमिकल बरामद किया है. कंपनी के संचालक को अरेस्ट करके उसके खिलाफ एनडपीसी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है. 

कार्रवाई के बारे में एनसीबी के जोनल डायरेक्टर उगमदान चारण ने बताया कि टीम को गोपनीय सूचना मिली थी कि जयपुर की फर्म थेराकैम रिसर्च मेडिलैब में प्रतिबंधित केमिकल का लेन देन होता है. जिसके बाद पुख्ता जानकारी मिलने पर टीम को जयपुर भेजकर फर्म पर कार्रवाई की गई. कार्रवाई के दौरान 21.378 किलो एसिटिक एनहाइड्राइड प्रतिबंधित केमिकल मिला, जिसका संचालक लाइसेंस नहीं दिखा सका. टीम ने कार्रवाई करते हुए दवा फर्म के संचालक प्रसन्नता कुमार निवासी मानसरोवर को गिरफ्तार कर लिया है. पता चला है कि इस केमिकल को अहमदाबाद से खरीदा गया था.

राज्य सरकार ने स्थगित वेतन भुगतान को दी हरी झंडी

जोनल डायरेक्टर चारण ने बताया कि जो केमिकल बरामद हुआ है, उसका उपयोग दवा बनाने के साथ-साथ फाइबर, प्लास्टिक, विस्फोटक और हेरोइन इत्यादि में भी होता है. बिना परमिशन के इसकी खरीद बिक्री करने पर दस साल की सजा हो सकती है. गौर हो कि रेड के दौरान कंपनी संचालक एनसीबी टीम को वैध लाइसेंस नहीं दिखा सका. जिस कारण कंपनी संचालक को टीम ने अरेस्ट कर लिया है. केमिकल को अहमदाबाद से खरीदा गया था. एनसीबी की टीम अब संचालक से पूछताछ कर नेटवर्क का पता लगाने में जुटी हुई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें