जयपुर : राजस्थान में अब एप से की जाएगी पेड़-पौधों की निगरानी

Smart News Team, Last updated: Sat, 19th Dec 2020, 8:06 PM IST
  • पौधरोपण कार्यक्रम के दौरान कहां-कहां पेड़ लगाए गए. उनकी देखभाल कैसे हो रही है. इन सभी बातों को लेकर ऑनलाइन मॉनीटरिंग के तहत यह एप शुरू किया गया है. भविष्य में इसे रेंज अधिकारी, सहायक वन संरक्षक तथा उप वन संरक्षक स्तर पर भी लागू किया जाएगा.
सांकेतिक फोटो

जयपुर. राजस्थान में अब पेड़-पौधों की निगरानी एप से की जाएगी. राज्य सरकार के दो वर्ष पूर्ण होने पर वृक्षारोपण निगरानी एप का शुभारम्भ मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने किया. वन एवं सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग द्वारा विकसित की गई इस एप के द्वारा प्रदेश के प्रत्येक वन मंडल में 560 फील्ड स्टाफ द्वारा 793 जगहों पर विजिट कर वृक्षारोपण स्थलों का डाटा अपलोड किया गया है. 

वन विभाग के अतिरिक्त प्रधान मुख्य वन संरक्षक (सूचना प्रौद्योगिकी) अरिजित बनर्जी ने बताया कि यह एप वृक्षारोपण स्थल की मॉनिटरिंग के लिए विकसित किए गए हैं. इसके माध्यम से वृक्षारोपण के कार्यों में पारदर्शिता तथा गुणवत्ता में वृद्धि होगी. रोपे गए पौधों की देखरेख में आसानी होगी.  उन्होंने बताया कि आरम्भ होते ही इस एप का उपयोग करते हुए जयपुर संभाग में 107, बीकानेर संभाग में 85, जोधपुर संभाग में 130, अजमेर संभाग में 94, भरतपुर संभाग में 8, कोटा संभाग में 69 तथा उदयपुर संभाग में 229 वृक्षारोपण स्थलों पर विजिट की गई. इसके अतिरिक्त वन्य जीव सम्भागों में भी इस एप के माध्यम से विजिट हुई. 

जयपुर: सरकार के दो साल के रिपोर्ट कार्ड पर जनता ने लगाया फेल का ठप्पा-डॉ पूनियां

उन्होंने बताया कि वन विभाग द्वारा यह भी सुनिश्चित किया जाएगा कि इसका निरन्तर उपयोग हो तथा भविष्य में इसे रेन्ज अधिकारी, सहायक वन संरक्षक तथा उप वन संरक्षक स्तर पर भी लागू किया जाए. बता दें कि वृक्षारोपण कार्यक्रम के दौरान कहां-कहां पेड़ लगाए गए. उनकी देखभाल कैसे हो रही है. इन सभी बातों को लेकर ऑनलाइन मॉनीटरिंग के तहत यह एप शुरू किया गया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें