वाहन मालिकों को नहीं काटने होंगे RTO के चक्कर, अप्रैल से फेसलेस होंगी 17 सेवाएं

Smart News Team, Last updated: Wed, 24th Mar 2021, 7:02 PM IST
  • राजस्थान परिवहन विभाग वाहन मालिकों को और सहूलियत देने जा रही है. अब जल्द ही वाहन संचालकों को परिवहन कार्यालयों के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे. 
राजस्थान परिवहन विभाग (फाइल तस्वीर)

जयपुर: अब जल्द ही वाहन संचालकों को परिवहन कार्यालयों के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे अलगे महीने अप्रैल से परिवहन विभाग की 17 सेवाएं फेसलेस हो जाएगी. वाहन संचालक परिवहन कार्यालयों में नहीं जाकर अब घर बैठे ही इन सेवाओं का लाभ ले सकेंगे.

विभाग शासन सचिव एवं परिवहन आयुक्त रवि जैन बुधवार को लाइव सेशन के जरिए प्रदेश की जनता के प्रश्नों का जवाब देते हुए यह जानकारी दी. जैन ने बताया कि ऑनलाइन सेवाएं लेने के दौरान तकनीकी समस्या पर विभाग के तकनीकी निदेशक श्रीपाल यादव और सिस्टम एनालिस्ट रोहिताश्व मीणा से संपर्क किया जा सकता है. जैन ने बताया कि जयपुर स्थित जगतपुरा परिवहन कार्यालय में ऑटामैटिक लाइसेंस ट्रेक बन चुका है. अब प्रदेश के 30 जिलों में भी जल्द ही ऑटामैटिक लाइसेंस ट्रेक बनाए जाएंगे. परिवहन आयुक्त ने वाहन चालकों से 31 मार्च तक बकाया कर जमा करवाकर छूट का लाभ लेने की बात भी कही.

कांस्टेबल भर्ती के तहत आज से होने वाले फिजिकल टेस्ट पर हाईकोर्ट ने लगाई रोक

ये सेवाएं होगी फेसलैस

फेसलैस होने वाली इन 17 सेवाओं में लर्निंग लाइसेंस, ड्राइविंग लाइसेंस रिन्यूवल, डुप्लीकेट ड्राइविंग लाइसेंस, रजिस्ट्रेशन और लाइसेंस के पते में बदलाव, अंतर्राष्ट्रीय ड्राइविंग परमिट की समस्यां, वाहन का हस्तांतरण, मोटर वाहन के लिए अस्थायी रजिस्ट्रेशन, फुल बिल्ड बॉडी मोटर वाहन का रजिस्ट्रेशन, डुप्लीकेट सर्टिफिकेट, एनओसी, ऑनरशिप ट्रांसफर का नोटिस, अधिकृत ड्राइवर के लिए ट्रेनिंग आवेदन सहित अन्य सेवाएं ऑनलाइन ही उपलब्ध हो जाएंगी.

बीसलपुर से जयपुर के लिए अतिरिक्त पानी लेने की तैयारी, विभाग ने भेजा प्रस्ताव

हर जिले में बनेगा ट्रैफिक पार्क, यहां मिलेगी जानकारी

परिवहन आयुक्त ने बताया कि विभाग हर जिले में ट्रैफिक पार्क बनाएगा. इसमें हर उम्र और वर्ग के लोगों को यातायात से संबंधित जानकारी मिलेगी. वाहन संचालक अपने वाहनों पर रिफ्लेक्टर लगाकर मानवीय अपराध से बचें. उन्होंने बताया कि अगली कैबिनेट मीटिंग में मोटर वाहन उपनिरीक्षक भर्ती को लेकर निर्णय होने की संभावना है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें