राजस्थान के राज्यपाल का आदेश, स्वतंत्रता दिवस पर विश्वविद्यालयों में वृक्षारोपण

Smart News Team, Last updated: 12/08/2020 08:17 PM IST
  • जयपुर. कोविड-19 के दौरान अपनाई जाने वाली सामाजिक दूरी व अन्य मेडिकल एडवाइजरी का पूर्णतः पालन किया जाए. राजस्थान के राज्यपाल मिश्र ने कहा है कि प्रत्येक व्यक्ति दो पौधे लगाएगा. इस कार्य में कुलपति, उनके सचिवालय के अधिकारी, स्थाई टीचर और कर्मचारियों को हिस्सा लेना होगा.
विश्वविद्यालयों में वृक्षारोपण

जयपुर। राजस्थान में इस बार स्वतंत्रता दिवस पर विश्वविद्यालयों में वृक्ष लगाए जायेंगे. राज्यपाल एवं कुलाधिपति कलराज मिश्र ने कहा है कि स्वतंत्रता दिवस पर झण्डारोहण के बाद विश्वविद्यालयों के परिसरों में वृक्षारोपण किया जाए. राज्यपाल ने कहा है कि इस कार्य में कोविड-19 के दौरान अपनाई जाने वाली सामाजिक दूरी व अन्य मेडिकल एडवाइजरी का पूर्णतः पालन किया जाए. इस कार्य में कुलपति, उनके सचिवालय के अधिकारी, स्थाई टीचर और कर्मचारियों को हिस्सा लेना होगा.

राज्यपाल मिश्र ने इस संबंध में प्रदेश के सभी राज्य विश्वविद्यालयों के कुलपतियों को निर्देश दिए हैं. कुलपतियों को भेजे पत्र में कहा है कि वृक्षारोपण के बाद पौधों की देखभाल का पूरा ध्यान रखा जाए. वृक्षारोपण कार्य और उसके बाद पौधों की सार संभाल के लिए प्रत्येक विश्वविद्यालय में एक समिति का गठन किया जाए. इस समिति में रजिस्ट्रार, वित्त नियन्त्रक व एक प्राध्यापक सहित तीन सदस्य होंगे. इन समितियों की देखरेख में वृक्षारोपण कार्य किया जाए. यह समिति वन विभाग से राजकीय दरों पर पौधे व ट्री गार्ड क्रय करेगी.

88 हजार से अधिक पौधे लगेंगे

15 अगस्त को सभी विश्वविद्यालयों के परिसरों में 88 हजार एक सौ 51 पौधे लगाये जाएंगे. कुलाधिपति ने विश्वविद्यालय के परिसरों के अनुसार कुलपतियों को पौधे लगाने की संख्या भी आवंटित की है. राजस्थान विश्वविद्यालय, मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय में 1500-1500 पौधे लगाये जाएंगे. इसी प्रकार जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय में 11 हजार 900, कोटा विश्वविद्यालय में बीस हजार, गोविन्द गुरू जनजातीय विश्वविद्यालय में 14 हजार 450, पशु चिकित्सा विश्वविद्यालय में पांच हजार एक सौ और श्री कर्ण नरेन्द्र कृषि विश्वविद्यालय में 12 हजार 500 पौधे लगाए जाएंगे. इसी प्रकार अन्य विश्वविद्यालयों में भी पौधारोपण किया जाएगा.जयपुर। राजस्थान में इस बार स्वतंत्रता दिवस पर विश्वविद्यालयों में वृक्ष लगाए जायेंगे. राज्यपाल एवं कुलाधिपति कलराज मिश्र ने कहा है कि स्वतंत्रता दिवस पर झण्डारोहण के बाद विश्वविद्यालयों के परिसरों में वृक्षारोपण किया जाए. राज्यपाल ने कहा है कि इस कार्य में कोविड-19 के दौरान अपनाई जाने वाली सामाजिक दूरी व अन्य मेडिकल एडवाइजरी का पूर्णतः पालन किया जाए. इस कार्य में कुलपति, उनके सचिवालय के अधिकारी, स्थाई टीचर और कर्मचारियों को हिस्सा लेना होगा.

राज्यपाल मिश्र ने इस संबंध में प्रदेश के सभी राज्य विश्वविद्यालयों के कुलपतियों को निर्देश दिए हैं. कुलपतियों को भेजे पत्र में कहा है कि वृक्षारोपण के बाद पौधों की देखभाल का पूरा ध्यान रखा जाए. वृक्षारोपण कार्य और उसके बाद पौधों की सार संभाल के लिए प्रत्येक विश्वविद्यालय में एक समिति का गठन किया जाए. इस समिति में रजिस्ट्रार, वित्त नियन्त्रक व एक प्राध्यापक सहित तीन सदस्य होंगे. इन समितियों की देखरेख में वृक्षारोपण कार्य किया जाए. यह समिति वन विभाग से राजकीय दरों पर पौधे व ट्री गार्ड क्रय करेगी.

88 हजार से अधिक पौधे लगेंगे

15 अगस्त को सभी विश्वविद्यालयों के परिसरों में 88 हजार एक सौ 51 पौधे लगाये जाएंगे. कुलाधिपति ने विश्वविद्यालय के परिसरों के अनुसार कुलपतियों को पौधे लगाने की संख्या भी आवंटित की है. राजस्थान विश्वविद्यालय, मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय में 1500-1500 पौधे लगाये जाएंगे. इसी प्रकार जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय में 11 हजार 900, कोटा विश्वविद्यालय में बीस हजार, गोविन्द गुरू जनजातीय विश्वविद्यालय में 14 हजार 450, पशु चिकित्सा विश्वविद्यालय में पांच हजार एक सौ और श्री कर्ण नरेन्द्र कृषि विश्वविद्यालय में 12 हजार 500 पौधे लगाए जाएंगे. इसी प्रकार अन्य विश्वविद्यालयों में भी पौधारोपण किया जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें