जयपुर : RAS मुख्य परीक्षा का परिणाम रद्द करने के आदेश को खंडपीठ में चुनौती दी

Smart News Team, Last updated: Sat, 16th Jan 2021, 7:52 PM IST
  • राजस्थान लोक सेवा आयोग और कार्मिक विभाग की ओर से की गई अपील पर खंडपीठ अगले सप्ताह सुनवाई करेगी. बता दें कि एकलपीठ ने कुछ याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए 17 दिसंबर को आदेश जारी कर आरएएस भर्ती 2018 की मुख्य परीक्षा के परिणाम को रद्द कर दिया था.
सांकेतिक फोटो

जयपुर. राजस्थान लोक सेवा आयोग की ओर से आयोजित आरएएस भर्ती 2018 लगातार अटकती जा रही है. अब भर्ती परीक्षा की मुख्य परीक्षा का परिणाम रद्द करने के एकलपीठ के आदेश को खंडपीठ में चुनौती दी गई है. राजस्थान लोक सेवा आयोग और कार्मिक विभाग की ओर से पेश की गई अपील पर खंडपीठ अगले सप्ताह सुनवाई करेगी. 

राजस्थान लोक सेवा आयोग और कार्मिक विभाग की ओर से पेश की गई अपील में कहा गया है कि एकलपीठ ने पदों के मुकाबले दो गुणा अभ्यर्थियों को साक्षात्कार में शामिल करने को कहा है, जिसकी वजह से करीब सात सौ उम्मीदवार साक्षात्कार में अधिक बुलाना पड़ेंगे. इसकी वजह से चयन प्रक्रिया पूरी होने में समय लगेगा और साक्षात्कार की गुणवत्ता भी प्रभावित होगी. आयोग की ओर से तर्क दिया गया है कि आरएएस परीक्षा नियम के तहत ही हर बार आरएएस भर्ती का परिणाम जारी होता आया है. ऐसे में एकलपीठ के ओदश को रद्द कर साक्षात्कार लेने की अनुमति दी जानी चाहिए.

जयपुर : राजस्थान में थानों की भी होगी निगरानी, लगेंगे CCTV, सीएम ने दिए आदेश

गौरतलब है कि एकलपीठ ने कविता गोदारा व अन्य की याचिका पर 17 दिसंबर को आदेश जारी कर आरएएस भर्ती 2018 की मुख्य परीक्षा के परिणाम को रद्द कर दिया था. इसके कारण साक्षात्कार प्रक्रिया पूरी तैयारी के बावजूद स्थगित करने पड़े. बता दें कि आरएएस भर्ती प्रक्रिया लगातार विवादों में घिरी हुई है, ऐसे में 2018 की भर्ती प्रक्रिया अब तक पूरी नहीं हो पाई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें