बाड़े में घुसकर पैंथर ने गाय पर किया हमला, गांव वालों ने आवाजें निकालकर बचाई जान

Smart News Team, Last updated: Fri, 26th Nov 2021, 1:06 PM IST
  • बौंली उपखंड के ग्राम पंचायत लाखनपुर में एक बाड़े में घुसे पैंथर ने गोवंश पर हमला कर दिया. गाय की आवाज सुनकर पड़ोसियों ने शोर मचाकर पैंथर को भगाया. जिससे गोवंश की जान बच पाई, लेकिन पैंथर के हमले से एक गाय बुरी तरह घायल हो गई.
पैंथर के रिहायशी इलाकों में पालतु पशुओं पर हमला करने के मामले सामने आ रहे हैं

जयपुर. जिले में पैंथर का आतंक बढ़ रहा है. ताजा मामला बौंली उपखंड के ग्राम पंचायत लाखनपुर में सामने आया है, जहां पैंथर के कारनामे देखकर आप दंग रह जाएंगे. यहां आठ दिन से एक पैंथर के रिहायशी इलाकों में पालतु पशुओं पर हमला करने के मामले सामने आ रहे हैं. गुरुवार को एक बाड़े में घुसे पैंथर ने गोवंश पर हमला कर दिया. पैंथर ने गाय को पूरी तरह जख्मी कर दिया. इस घटना से पूरे गांव में दहशत का माहौल है.

जानकारी के मुताबिक उपखंड के गांव लाखनपुर में रामकेश माली के बाड़े में शाम करीब सात बजे पैंथर घुस गया. बाड़े में बंधे गोवंश पर पैंथर ने हमला कर दिया. गाय की आवाज सुनकर रामकेश, उसका परिवार और पड़ोसियों ने शोर मचाकर पैंथर को भगाया. जिससे गोवंश की जान बच पाई, लेकिन पैंथर के हमले से एक गाय बुरी तरह घायल हो गई.

दलित दूल्हे के घोड़ी चढ़ते ही बावल, पुलिस टीम के बीच लोगों ने किया पथराव

ग्रामीणों के मुताबिक पिछले कुछ दिनों से शाम को करीब सात बजे ही पंचायत भवन के आसपास एक पैंथर लोगों के शिकार की तलाश में घूमता हुआ दिखाई देता है. हफ्तेभर में पैंथर ने चार-पांच मवेशियों का शिकार भी किया है.

जानकारी के मुताबिक मवेशियों पर पैंथर के हमले की घटनाएं आए दिन सामने आ रही है. पैंथर की दहशत के चलते ग्रामीण अपनी और अपने जानवरों की सुरक्षा के लिए पहरा दे रहे हैं. ग्रामीणों की मांग है कि जल्द से जल्द वन विभाग पैंथर का रेस्क्यू कर जंगल में छोड़े, जिससे उन्हें पैंथर के आतंक से निजात मिल सके.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें