जयपुर में रिंग रोड पर गड्ढे, टोल वसूल रहे एनएचएआई से कलक्टर ने मांगी रिपोर्ट

Smart News Team, Last updated: 03/12/2020 04:36 PM IST
  • जयपुर जिला कलक्टर को एनएचएआई को एक सप्ताह में देनी होगी रिपोर्ट. शिकायतकर्ताओं का आरोप- एनएचएआई अधिकारियों से मिलकर ठेकेदारों ने सर्विस रोड को बंद कर दिया है. इससे स्थानीय लोगों को टोल देने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है.  
जयपुर स्थित रिंग रोड

जयपुर. राजधानी जयपुर में एनएचएआई ने रिंग रोड के निर्माण के बाद इसे शुरू कर टोल वसूल करना शुरू कर दिया है, लेकिन रिंग रोड पर बने गड्ढों पर उसकी नजर नहीं पड़ रही है. रिंग रोड के निर्माण में घटिया सामग्री के इस्तेमाल की शिकायत जिला कलक्टर अन्तर सिंह नेहरा के पास पहुंची है. इस शिकायत पर जिला कलक्टर ने जांच के आदेश देते हुए एनएचएआई से एक सप्ताह में रिपोर्ट मांगी है. 

रिंग रोड में घटिया निर्माण सामग्री का उपयोग किए जाने के शिकायतकर्ता प्रवीण कुमार, रामप्रकाश मीणा, मूलचंद, श्रीराम सहित अन्य ने बताया कि रिंग रोड के शुरू होने के कुछ दिन बाद ही रोड के दोनों तरफ व कहीं-कहीं रोड के बीच में भी गड्ढे बन गए हैं. इन लोगों ने अपनी शिकायत में बताया कि एनएचएआई ने रिंग रोड का कार्य पूरा होने से पहले ही इसे शुरू करके टोल वसूली शुरू कर दी है. एनएचएआई अधिकारियों से मिलकर ठेकेदारों ने सर्विस रोड को भी बंद कर दिया है. इससे स्थानीय लोगों को टोल देने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है.

नहीं रहे 'मसालों के बादशाह' MDH के मालिक महाशय धर्मपाल 

ठेकेदारों ने अफसरों से मिलीभगत करके रिंग रोड के पास ग्रीन एरिया में गड्ढे कर दिए है. इससे प्लाटों के रास्तों व सर्विस रोड से गुजरने वाले वाहन चालकों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है. शिकायतकर्ताओं की इन शिकायतों पर जिला कलक्टर ने अधिकारियों को रिंग रोड निर्माण में घटिया सामग्री के उपयोग की जांच करने के निर्देश दिए हैं. साथ ही उन्होंने एनएचएआई से सात दिन के अंदर रिपोर्ट मांगी है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें