राजस्थान में सियासी घमासान जारी, बसपा विधायकों को लेकर कल होगी हाईकोर्ट में बहस

Smart News Team, Last updated: 12/08/2020 09:13 PM IST
  • राजस्थान में भले ही कांग्रेस में चल रहा सियासी घमाशान सचिन पायलट और उनके समर्थित विधायकों के जयपुर लौट आने के बाद थम गया हो. लेकिन बसपा के विधायकों के कांग्रेस के विलय को लेकर चल रहा सियासी अखाड़ा अभी भी जारी है.
राजस्थान हाईकोर्ट

राजस्थान के सियासी संग्राम में एक अध्याय भले ही खत्म हो गया हो लेकर अभी भी दूसरा अध्याय हाईकोर्ट की खंडपीठ में जारी है. दरअसल नौ माह पहले कांग्रेस में शामिल हुए बसपा के 6 विधायकों के मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई 13 अगस्त तक टल गई थी, जबकि राजस्थान हाईकोर्ट में इसी मामले में पक्षकारों की बहस आज अधूरी रही. हाईकोर्ट में गुरुवार को भी मामले की सुनवाई की जाएगी. भाजपा विधायक मदन दिलावर ने इस विलय पर रोक की मांग कर रखी है. बसपा ने भी इस विलय को चुनौती दे रखी है. विधायक दिलावर ने विधानसभा स्पीकर से 18 सितंबर 2019 को बसपा विधायकों के कांग्रेस में शामिल होने की मंजूरी का आदेश जारी किया था. उस पर रोक लगाने की मांग की है. खुद बसपा ने हाईकोर्ट से सुप्रीम कोर्ट में मामले को ट्रांसफर करने की मांग भी की है. सभी 6 एमएलए को विधानसभा के फ्लोर टेस्ट में किसी भी पार्टी के पक्ष में वोटिंग से भी रोका जाए.

आपकों बता दे कि हाईकोर्ट की एकलपीठ में बसपा के विधायकों के कांग्रेस में विलय को चुनौती देने के मामले में भाजपा विधायक मदन दिलावर और बसपा की याचिका पर मंगलवार को जस्टिस महेंद्र गोयल ने सुनवाई की. बसपा के तरफ से पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सतीश मिश्रा ने बहस किया. कांग्रेस के तरफ से विवेक तनखा और स्पीकर की ओर से कपिल सिब्बल व प्रतीक कासलीवाल ने बहस की. दोनों पक्षों को सुनकर अदालत ने कांग्रेस को मामले में पक्षकार बनाने की अर्जी मंजूर कर ली है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें