12वीं परीक्षा के कैलेंडर में होगा बदलाव, सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर तैयारी शुरू

Smart News Team, Last updated: Sat, 26th Jun 2021, 4:22 PM IST
  • दो दिन पहले ही शिक्षा विभाग ने कोर्ट के आदेश के बाद 31 जुलाई तक परिणाम जारी किए जाने की कवायद तेज कर दी है.
राजस्थान में 31 जुलाई तक 12वीं का परिणाम घोषित करने की तैयारी ने पकड़ा जोड़.

सुप्रीम कोर्ट ने 12वीं की परीक्षा परिणाम 31 जुलाई तक जारी करने के आदेश दिया है जिसके बाद राजस्थान में भी इसकी कवायद शुरू हो गई है. परीक्षा परिणाम को लेकर शिक्षा विभाग कोर्ट के आदेशों का अध्ययन करवा रहा है, इसके साथ ही परिणाम समय से पहले जारी करने के लिए परिणाम कैलेंडर के समय में भी बदलाव किया जा रहा है.

गौरतलब है कि दो दिन पहले ही शिक्षा विभाग की ओर से कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर 45 दिन में परिणाम जारी करने की बात कही गई थी. 45 दिन के हिसाब से 12वीं कक्षा का परिणाम अगस्त के पहले सप्ताह में जारी किया जाता. लेकिन जैसा कि सुप्रीम कोर्ट  ने आदेश दिया है कि 31 जुलाई तक हर हाल में परीक्षा का परिणाम घोषित किया जाए इसलिए शिक्षा विभाग समय के पूर्व ही सारी व्यवस्था करने में जुट गई है.

फोन टैपिंग मामले पर केंद्रीय मंत्री शेखावत बोले, वॉइस सैंपल देने को हैं तैयार

शिक्षा मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने इस विषय में कहा है कि कोर्ट के आदेशों को दिखवाया जा रहा है. परिणाम के कैलेंडर में जो समय सीमा दी है उसे बदलवाकर जुलाई के अंतिम सप्ताह तक ही परिणाम जारी करवा दिया जाएगा. इसका मतलब है कि जहां छात्रों को अपने परीक्षा परिणाम के लिए अगस्त तक इंतजार करना पड़ता वहीं अब केवल एक महीने के भीतर परीक्षा परिणाम घोषित कर दिया जाएगा. 

शेखावत की टिप्पणी पर जोशी बोले, आपको ACB के पते की जानकारी नहीं तो मैं भेजूं?

कोरोना की वजह से  दसवीं और बारहवीं की बोर्ड परीक्षा को स्थगित कर दिया गया था और दोनों बोर्ड परीक्षाओं के परिणाम घोषित करने के लिए फार्मूले तैयार किे गए हैं जिसके तहत छात्रों को उनके परिणाम मिलेंगे. हालांकि सरकार ने उन छात्रों के लिए परीक्षा का विकल्प भी रखा है जो फार्मूले के तहत मिले परिणाम से संतुष्ट नहीं होंगे. असंतुष्ट छात्रों के लिए कुछ समय बाद परीक्षा का आयोजन किया जाएगा जिसके तहत वह 10वीं और 12वीं का एग्जाम दे सकेंगे.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें