राजस्थान: दिवाली पर स्कूलों में 9 दिनों की छुट्टियां, 24 धंटो में गहलोत सरकार ने पलटा फैसला

Prince Sonker, Last updated: Thu, 14th Oct 2021, 1:35 AM IST
  • राजस्थान सरकार ने दिवाली पर सरकारी स्कूलों में होने वाली छुट्टियों में कटौती के फैसले को 24 धंटो के भीतर ही बदल दिया. शिक्षा विभाग ने बुधवार को नया आदेश जारी करते हुए 29 अक्टूबर से 7 नवंबर तक स्कूलों में अवकाश की घोषणा की है. जबकि पुराने आदेश में स्कूलों में चार से छह नवंबर तक ही अवकाश दिया गया था.
(फाइल फोटो)

जयपुर. राजस्थान में शिक्षा विभाग ने दीपावली पर होने वाली छुट्टियों में कटौती करने के अपने फैसले को 24 धंटो में ही पलट दिया. मंगलवार को ही आदेश जारी करते हुए माध्यमिक शिक्षा विभाग ने मिड टर्म की छुट्टियों पर रोक लगा दी थी. लेकिन बुधवार को जारी नए आदेश में राज्य के सभी सरकारी स्कूलों में 29 अक्टूबर से 7 नवंबर तक अवकाश की घोषणा की गई है. इससे पहले जारी आदेश में 4 से 6 नवंबर तक ही छुट्टियां दी गई थीं. शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने भी संशोधित आदेश के बारे ट्वीट करके जानकारी दी.

दरअसल, हर साल दीपावली की छुट्टियों के नाम पर शिक्षकों और स्टूडेंट्स को दस से पन्द्रह दिनों का अवकाश मिलता है. इसे सरकारी रिकार्ड में दीपावली अवकाश नहीं बल्कि मिड टर्म वेकेशन कहा गया है. इस बार माध्यमिक शिक्षा निदेशक सौरभ स्वामी ने एक आदेश जारी करके मिड टर्म वेकेशन रद्द कर दिया था. इतना ही नहीं शैक्षिक सम्मेलन के नाम पर मिलने वाली चार छुटि्टयां भी रद्द कर दी गई थी. दरअसल कोरोना संक्रमण की वजह से इस साल छात्रों की पढ़ाई का काफी नुकसान हुआ है. कोरोना महामारी की वजह से स्कूल-कॉलेज लंबे अरसे से बंद है. कोरोना के कारण छात्रों की पढ़ाई के नुकसान की भरपाई करने के लिए मिड टर्म की छुट्टियां रद्द कर दी गई थी.

गहलोत सरकार ने पेंशन और जीपीएफ से जुड़े लिए तीन अहम फैसले, रिटायरमेंट के दिन मंजूर होगी पेंशन

राजस्थान में पहली बार ऐसा हुआ था जब शिक्षा विभाग ने दीपावली पर मिड टर्म की छुट्टियों को रद्द किया था. सरकारी छुट्टियों को रद्द करने के फैसले को लेकर प्रदेशभर के शिक्षकों ने विरोध शुरू कर दिया था. शिक्षकों के विरोध के बाद पूरे मामले मे दखल देते हुए राज्य के शिक्षा मंत्री गोविंद डोटासरा ने बुधवार को नया आदेश जारी करवाया. नए आदेश के अनुसार स्कूल, कॉलेजों में शैक्षिक सम्मेलन के लिए प्रशासन की अनुमति लेनी होगी. आयोजकों को सम्मेलन में कोविड 19 गाइडलाइंस का पालन करना होगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें