अब इस सिस्टम के जरिए राजस्थान में अच्छे स्कूलों का पता लगा पाएंगे बच्चों के पेरे

Deepakshi Sharma, Last updated: Wed, 22nd Sep 2021, 5:02 PM IST
  • राजस्थान में ग्रेडिंग सिस्टम शुरू होने वाला है. स्कूल को अब ए, बी और सी ग्रेड दिए जाएंगे. सरकारी ही नहीं बल्कि प्राइवेट स्कूलों को भी इसमें शामिल किया जाएगा. खुद इस बारे में शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने जानकारी दी है.
राजस्थान के स्कूलों के लिए जल्द लागू होगा ग्रेडिंग सिस्टम

जयपुर. राजस्थान में एक ऐसे सिस्टम की शुरुआत होने वाली है जिसके आधार पर अभिभावक ये आसानी से जान पाएंगे कि उनके इलाके में कौन सा स्कूल सबसे अच्छा है. इस बात की जानकारी शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने दी है. उन्होंने कहा कि राजस्थान में सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों के लिए जल्द ही ग्रेडिंग सिस्टम शुरू होने वाला है. स्कूलों को ए, बी और सी ग्रेड दिए जाएंगे. ये काम अच्छे से हो सके उसके लिए मानकों को तय किया जाएगा. मंत्री ने इस सिस्टम को लागू करने के लिए अधिकारियों से जल्द ही गाइडलाइन तैयार करने को कहा है. सिस्टम को आरटीई एडमिशन से भी जोड़ा जाएगा.

राजस्थान के शिक्षा मंत्री ने शाला संबल नाम के एक ऐप की लॉन्चिंग के वक्त ये बातें कहीं. उन्होंने बताया कि ऐप के जरिए विभागीय अधिकारी किसी भी स्कूल के निरीक्षण के बाद जानकारी को ऑनलाइन फीड कर सकेंगे. उन्होंने कहा कि अभी तक स्कूलों के निरीक्षण में इन्फ्रास्ट्रक्टर और रखरखाव पर केंद्रित होते थे लेकिन इस ऐप के जरिए अकादमिक मूल्यांकन भी हो सकेगा.

पंजाब के सियासी घमासान से राजस्थान में मची हलचल, CM गहलोत ने देर रात बदले 25 IAS अफसर

शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने बताया कि अध्यापक अपने कर्तव्य का निर्वहन सही तरीके से कर रहे हैं या नहीं, इस ऐप के जरिए इसकी भी निगरानी हो सकेगी. निरीक्षण का लेखा जोखा तुंरत विभाग तक पहुंच जाएगा. उन्होंने कहा कि इस तरह की हाइटेक मॉनिटरिंग से शैक्षिक गुणवत्ता में सुधार आएगा जिसका फायदा राज्य के बच्चों को मिलेगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें