राजस्थान: विरोध में उतरे पटवारी भर्ती परीक्षा का इंतजार कर रहे उम्मीदवार, जानें

Smart News Team, Last updated: Sat, 24th Apr 2021, 4:27 PM IST
  • राजस्थान में 4421 पटवारी पद की भर्ती पर एक बार फिर विवाद बढ़ गया है. सरकार ने इस भर्ती में फिर से दो परीक्षा आयोजन की तैयारी कर रहा है. जिसका अभ्यर्थी विरोध कर रहे हैं. साथ ही अभ्यर्थी परीक्षा की तिथि घोषित करने की भी मांग कर रहे हैं.
राजस्थान में 4421 पटवारी पदों की भर्ती. (प्रतीकात्मक चित्र)

जयपुर: राजस्थान में पटवारी भर्ती के लिए 2019 में  4421 पदों की भर्ती निकाली गई थी. आज करीब 2 साल का समय बीत चुका है. लेकिन पटवारी भर्ती की परीक्षा तिथि की घोषणा नहीं की गई है. इससे पहले दो बार इस भर्ती परीक्षा की तारीख की घोषणा करके इस परीक्षा को स्थगित किया जा चुका है. अब जब 2 साल बीत चुका है. इस भर्ती परीक्षा का इंतजार में करीब 13 लाख 49 हजार 321 छात्र कर रहे हैं. 

राजस्थान सरकार की तरफ से पटवारी भर्ती को फिर से दो परीक्षा आयोजन की तैयारी कर रही है. जिसका पटवारी भर्ती आवेदकों ने व्यापक विरोध प्रदर्शन करना शुरू कर दिया है. साल 2015 में राजस्थान सरकार ने पटवारी भर्ती परीक्षा के लिए आवेदन मांगा था. जिसकी परीक्षा 3 साल बाद 2018 में पूरी की गई. यह भर्ती दो परीक्षाओं के चलते विवाद से घिर गया. विवाद इतना बढ़ गया कि सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर दिया गया. जिसको बाद में एक ही परीक्षा में करवाने का फैसला लिया गया. इस बार फिर राज्य सरकार दो परीक्षा आयोजन करवाने में लगी.

हिस्ट्रीशीटर दामाद समेत MP का स्मैक तस्कर अरेस्ट, आमेर से हुए गिरफ्तार

इस पटवारी भर्ती के 4421 पदों के लिए दो परीक्षा आयोजन पर राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ अध्यक्ष उपेन यादव का कहना है कि 2015 की भर्ती दो परीक्षा के विवाद के चलते 2018 में हुई थी. एक बार फिर इस भर्ती का दो परीक्षा आयोजन विवाद का कारण बन सकता है. ऐसे में उपेन यादव ने सरकार से मांग की है कि परीक्षा का आयोजन तेजी से हो. साथ ही भर्ती परीक्षा को विवाद से बचाने के लिए एक ही परीक्षा करवाए सरकार.

गहलोत सरकार ने की नई कोरोना गाइडलाइन जारी, लॉकडाउन में दी ये राहत, फुल डिटेल्स

जयपुर में तैयार हो रहा 5-8 हजार बैड क्षमता का कोविड केयर सेंटर, 26 से होगा शुरू

सरकारी नौकरी: सहकारी उपभोक्ता भण्डारों एवं केवीएसएस में आवेदन की तारीख बढ़ी

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें