राजस्थान विधानसभा बजट सत्र आज से शुरू, 24 फरवरी को CM गहलोत पेश करेंगे बजट

Smart News Team, Last updated: Wed, 10th Feb 2021, 7:10 PM IST
  • राजस्थान विधानसभा में 10 फरवरी से बजट सत्र शुरू हो गया है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के पास वित्त विभाग है तो 24 फरवरी को वो खुद विधानसभा में बजट पेश करेंगे. बजट सत्र की शुरूआत राज्यपाल कलराज मिश्र के अभिभाषण से हुई.
राजस्थान विधानसभा बजट सत्र 10 फरवरी से शुरू हो गया है. प्रतीकात्मक तस्वीर

जयपुर. राजस्थान विधानसभा में बुधवार को बजट सत्र शुरू हो गया है. सत्र की शुरूआत राज्यपाल कलराज मिश्र के अभिभाषण से हुई है. 24 फरवरी को सरकार बजट पेश करेगी. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के पास वित्त विभाग है तो वो खुद विधानसभा में बजट पेश करेंगे. वहीं कृषि कानून के विरोध में आंदोलन कर रहे किसानों के समर्थन में बामनवास से कांग्रेस विधायक इंदिरा मीणा बजट सत्र के पहले दिन ट्रैक्टर से विधानसभा पहुंची.

विधायक इंदिरा मीणा ने विधानसभा के बाहर पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि मैं कृषि कानून के विरोध में आंदोलन कर रहे किसानों के समर्थन में हूं. जब उन्हें मेरी जरूरत होगी, मैं वहा रहूंगी. उन्होंने कहा कि आंदोलन के दौरान कई किसानों की मौत हो गई है. ये बहुत दुर्भाग्यपूर्ण कि केन्द्र सरकार कानूनों को वापस लेने के मामले में जिद पर अड़ी हुई है. 

कांग्रेस किसानों के समर्थन में कल से शुरू करेगी तीन बड़े कार्यक्रमों का आगाज

मिली जानकारी के अनुसार, 24 फरवरी को राजस्थान सरकार बजट पेश करेगी. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के पास वित्त मंत्रालय है तो वो खुद विधानसभा में बजट पेश करेंगे. इससे पहले विधानसभा में बजट सत्र के पहले दिन हंगामा हुआ. सत्र की शुरूआत में राज्यपाल कलराज मिश्र का अभिभाषण चल रहा था. तभी माकपा विधायक बलवार पूनिया कृषि कानूनों के खिलाफ नारेबाजी करने लगे.

भारत-अमेरिका का संयुक्त युद्धाभ्यास शुरू, महाजन फील्मड फायरिंग रेंज में हुई शुरु

माकपा विधायक वैल में धरने पर बैठ गए. उन्होंने गर्वनर से कहा बोलिए तो कलराज मिश्र ने जवाब दिया कि मैं तो बोल रहा हूं. जिसके बाद संसदीय कार्य मंत्री शांति धारीवाल, मुख्य सचेतक डॉ. महेश जोशी और उप मुख्य सचेतक महेन्द्र चौधरी वैल में पहुंचे. माकपा विधायक बलवार पूनिया को समझा बुझाकर सीट पर ले जाएगा. बताया जा रहा है 16 फरवरी को राज्यपाल के अभिभाषण पर सरकार का जवाब आ सकता है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें