राजस्थान उपचुनाव: EC के निर्देश- सुबह 10 से शाम 7 तक हो सकेगा प्रचार

Ankul Kaushik, Last updated: Sat, 9th Oct 2021, 7:50 PM IST
  • राजस्थान की दो विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए चुनाव आयोग ने प्रचार का समय सीमित कर दिया है. चुनाव आयोग के अनुसार राजस्थान उपचुनाव के लिए प्रत्याशी और पार्टियों को सुबह 10 बजे से शाम 7 बजे तक ही चुनाव प्रचार करने की अनुमति है.
राजस्थान उपचुनाव

जयपुर. चुनाव आयोग ने राजस्थान में होने वाले उपचुनाव के लिए प्रचार का समय सीमित कर दिया है. कोविड 19 को देखते हुए सभी पार्टियां और प्रत्याशी राजस्थान उपचुनाव में सुबह 10 बजे से शाम 7 बजे तक ही चुनाव प्रचार कर सकेंगे. यह निर्देश मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने देते हुए कहा कि यह फैसला कोविड की वजह से लिया गया है. मतलब साफ है कि राजस्थान में इस उपचुनाव के लिए सायंकाल 7 बजे से सुबह 10 बजे तक चुनाव प्रचार नहीं किया जा सकेगा. राजस्थान की वल्लभनगर विधानसभा और धरियावद विधानसभा पर मतदान होने हैं और इसके लिए 5 लाख 11 हजार 455 मतदाता 30 अक्टूबर को सुबह 7 बजे से सायं 6 बजे तक वोट डालेंगे.

बता दें कि वल्लभनगर से कांग्रेस विधायक गजेंद्र सिंह शेखावत और धारियावाद से भाजपा विधायक गौतम लाल मीणा के निधन के बाद इन सीटों पर उपचुनाव हो रहा है. अब देखना ये है कि राजस्थान की सत्ताधारी पार्टी कांग्रेस इस चुनाव में एक सीट जीतेगी या फिर दोनो सीटों पर जीत का परचम लहराएगी. कांग्रेस ने उदयपुर जिले की वल्लभनगर विधानसभा सीट से विधायक रहे गजेंद्र सिंह शेखावत की पत्नी प्रीति शेखावत को टिकट दिया है. इस सीट पर कांग्रेस की जीत पक्की मानी जा रही है क्योंकि कांग्रेस का इस सीट पर काफी वोट है. इसके साथ ही कांग्रेस ने प्रतापगढ़ जिले की धारियावाद से नागराज मीणा को कांग्रेस ने चुनावी मैदान में उतारा है.

राजस्थान उपचुनाव: कांग्रेस और BJP ने जारी किए उम्मीदवारों के नाम, 30 अक्टूबर को वोटिंग

इसके साथ ही बीजेपी ने धारियावाद सीट से पूर्व विधायक गौतम लाल मीणा के परिवार को दरकिनार करते हुए खेत सिंह मीना को टिकट दिया है. अब देखना ये है कि मीना बीजेपी को उनकी सीट को वापस दिला पाएंगे या फिर कांग्रेस इस सीट पर अपनी जीत दर्ज करेगी. वहीं बीजेपी ने उदयपुर की वल्लभनगर विधानसभा सीट से हिम्मत सिंह झाला को चुनावी मैदान में उतारा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें