गुप्तांग पर फोड़े का इलाज कराने गए मरीज का डॉक्टर ने प्राइवेट पार्ट ही काट डाला

MRITYUNJAY CHAUDHARY, Last updated: Wed, 6th Oct 2021, 5:34 PM IST
  • राजस्थान के बाड़मेर में गुप्तांग पर हुए एक फोड़े का इलाज करवाना मरीज को बहुत ज्यादा महंगा पड़ गया. डॉक्टर ने मरीज का प्राइवेट पार्ट ही काट डाला. पीड़ित ने पुलिस में शिकायत की है.
अस्पताल की सांकेतिक फोटो

जयपुर. राजस्थान के बाड़मेर जिले में एक युवक के गुप्तांग पर फोड़े के इलाज के दौरान डॉक्टर ने उसका प्राइवेट पार्ट ही काट दिया. युवक गुप्तांग पर हुए फोड़े का इलाज करवाने सरकारी अस्पताल गया था. सरकार अस्पताल से डॉक्टर ने उसे इलाज के लिए निजी अस्पताल भेज दिया. प्राइवेट अस्पताल ने इलाज के नाम पर मरीज से मोटी रकम तो ऐंठी ही, साथ ही इलाज के दौरान उसका प्राइवेट पार्ट ही काट दिया. मरीज ने इसकी शिकायत पुलिस से की है. 

मिली जानकारी के अनुसार बाड़मेर निवासी एक युवक के गुप्तांग पर फोड़ा हो गया था. जिसका इलाज करवाने वह सरकारी अस्पताल गया. वहां उससे कहा गया कि निजी अस्पताल यश हॉस्पिटल में इसका इलाज संभव है. वहां एक मामूली सर्जरी के बाद सब ठीक हो जाएगा. जब वह यश हॉस्पिटल पहुंचा तो उसे इसकी फीस डेढ़ लाख रुपए बताई गई. मरीज के पास पैसे कम थे तो उसने घर को गिरवी रखकर पैसे का इंतजाम किया और फिर इलाज करवाया. 

बच्ची से रेप के मामले में 18 घंटे में आरोपी की गिरफ्तार, 5 दिन में सुनवाई पूरी कर हुई 20 साल की सजा

मरीज की शिकायत के अनुसार ऑपरेशन के दौरान उसे बेहोशी का इंजेक्शन लगाया गया जो किसी भी दर्द भरे ऑपरेशन की सामान्य प्रक्रिया है. लेकिन जब उसे होश आया तो उसने देखा कि उसका प्राइवेट पार्ट करीब 1 इंच तक कटा हुआ है. पीड़ित मरीज का आरोप है कि उसका इलाज एक सरकारी और 2 निजी डॉक्टरों ने किया जिनकी लापरवाही से उसका जीवन तबाह हो गया है. 

पीड़ित ने यह भी आरोप लगाया है कि उसने इलाज के लिए जो फीस दिया उसका अस्पताल ने कोई रसीद ही नहीं दिया है. फिर उसका इलाज भी पूरा नहीं किया. अब उसे दूसरी जगह इलाज करवाना पड़ रहा है. पीड़ित ने स्थानीय पुलिस को शिकायत दी लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई. थक हारकर उसने जोधपुर रेंज के आईजी को शिकायत की है. आगे कार्रवाई का इंतजार है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें