REET Paper Leak: रीट पेपर लीक मामले में BJP नेता ने गिरफ्तारी की मांग उठाई

Komal Sultaniya, Last updated: Mon, 7th Mar 2022, 8:22 PM IST
  • राजस्थान में पूर्व मंत्री एवं भाजपा विधायक वासुदेव ने बुधवार को विधानसभा में राज्य सरकार पर शिक्षण संस्थानों की दुर्दशा होने का आरोप लगाते हुए अध्यापक पात्रता परीक्षा (रीट) मामले में माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष डी पी जारोली को गिरफ्तार करने की मांग की.
REET Paper Leak: रीट पेपर लीक मामले में BJP नेता ने गिरफ्तारी की मांग उठाई

जयपुर. राजस्थान में पूर्व मंत्री एवं भाजपा विधायक वासुदेव ने बुधवार को विधानसभा में राज्य सरकार पर शिक्षण संस्थानों की दुर्दशा होने का आरोप लगाते हुए अध्यापक पात्रता परीक्षा (रीट) मामले में माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष डी पी जारोली को गिरफ्तार करने की मांग की. देवनानी ने शिक्षा कला एवं संस्कृति विभाग की अनुदान मांगों पर हुई चर्चा की शुरुआत की और रीट मामले को उठाते हुए मांग की कि माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष डीपी जारोली को इस मामले में गिरफ्तार किया जाना चाहिए.

उन्होंने कहा कि जारोली को गिरफ्तार करने, मामले की केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से जांच करने एवं आरोपियों का नार्को टेस्ट कराना चाहिए तब जाकर इस मामले की असलियत सामने आयेगी. उन्होंने कहा कि बच्चों के साथ खिलवाड़ नहीं होना चाहिए. उन्होंने कहा कि स्कूल शिक्षा की बात की जाए तो विद्यालय राजनीति के अखाड़े बन गए हैं. समय पर डीपीसी नहीं होने से कर्मचारियों का उद्देश्य पूरे नहीं हो रहे है. उन्होंने कहा कि अंग्रेजी विद्यालय खोले गए लेकिन हिन्दी माध्यम से पढ़ने वाले बच्चों की व्यवस्था नहीं होने से परेशानी हो रही है. उन्होंने कहा कि स्कूलों में बिजली एवं पानी के बिल नि:शुल्क करना चाहिए.

RSMSSB: आरएसएमएसएसबी पटवारी भर्ती का रिजल्ट जारी, जल्द करें चेक

उन्होंने कहा कि स्कूलों में बच्चों को गरम भोजन की योजना लाई गई लेकिन इसके लिए राशि उपलब्ध कराई जानी चाहिए. उन्होंने कहा कि राजस्थान के कई विश्वविद्यालयों में स्वीकृत पदों में कई पद खाली पड़े हैंचर्चा में भाग लेते हुए निर्दलीय विधायक संयम लोढ़ा ने शिक्षा के मामले में किए राज्य सरकार के प्रयासों की प्रशंसा करते हुए कहा कि पढ़ने वाले बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए स्कूली शिक्षा में कई नवाचार किए गए हैं. उन्होंने कहा कि इसके लिए स्कूलों में शनिवार को नो बैग योजना शुरु की गई जिसके तहत महीने के हर शनिवार को अलग अलग विषयों के बारे में बच्चों को बताया जा रहा है जिससे उनका सर्वांगीण विकास हो रहा है. उन्होंने कहा कि पहले की भांति अब परिस्थितियां नहीं रही हैं और जागरुकता बढ़ी हैं और इसके लिए सरकार ने भी काफी प्रयास किए हैं और रोजगारपरक शिक्षा दी जा रही हैं. इसी तरह अन्य सदस्यों ने भी चर्चा में भाग लिया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें