प्रदेश भाजपा अध्यक्ष पूनिया ने कहा- कांग्रेस मुक्त राजस्थान की हो चुकी शुरुआत

Smart News Team, Last updated: 10/12/2020 12:35 PM IST
  • राजस्थान भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष पूनिया ने कहा कि बड़बोले प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष के गृह क्षेत्र में कांग्रेस की करारी शिकस्त हुई है. उनके पूर्व प्रदेश अध्यक्ष के गृह जिले में भी कांग्रेस की करारी हार हुई है. इससे साबित होता है कि कांग्रेस पार्टी राजस्थान में आधे रास्ते में ही दम तोड़ रही है.
राजस्थान के प्रदेश भाजपा अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया

जयपुर. पंचायतीराज एवं जिला परिषद चुनाव के नतीजों पर भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया ने बयान जारी कर कहा कि परिसीमन में धांधली और भेदभाव, जोड़-तोड़ से वोटों की रोटियां सेंकने, सरकारी मशीनरी के दुरुपयोग के जरिए पंचायतीराज पर एकतरफा काबिज होने की कांग्रेस की अशोक गहलोत सरकार की कोशिश नाकाम रही. कांग्रेस पर भाजपा के कार्यकर्ताओं का परिश्रम बल कांग्रेस के संख्या बल पर भारी पड़ा. 

उन्होंने कहा कि यह तो शुरुआत है कांग्रेस पार्टी के राजस्थान से मुक्त होने की. बता दें कि 21 जिलों के 636 जिला परिषद चुनाव में भाजपा ने 353, कांग्रेस 252 और अन्य ने 31 सीटों पर विजय प्राप्त की है. वहीं 21 जिलों में हुए पंचायत समिति के चुनावों में 4371 वार्डों में से भाजपा ने 1990, कांग्रेस 1856 एवं अन्य ने 525 सीटों पर जीत हासिल की है. पूनिया ने कहा कि प्रदेश की जनता का कांग्रेस के दो साल के कुशासन और जनविरोधी नीतियों से मोहभंग हो गया है. कांग्रेस के सत्ता बल के आगे भाजपा कार्यकर्ताओं के परिश्रम का पसीना जीता है. पूनिया ने कहा कि प्रदेश के पंचायतीराज के चुनावों के नतीजों से ऐसा लगता है कि भारत बंद तो दूर, नतीजों से प्रदेश के कई कांग्रेस नेताओं की दुकानें जरूर बंद हो गई हैं. राजस्थान के ग्रामीण मतदाताओं, किसानों, युवाओं ने कांग्रेस पार्टी के विरुद्ध एवं केन्द्र की मोदी सरकार की कल्याणकारी नीतियों के समर्थन में आस्था व्यक्त की है. 

हनुमान बेनीवाल ने कहा- जिला परिषद के बोर्ड गठन में गठबंधन धर्म निभाएंगे

पूनिया ने कहा कि बड़बोले प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष के गृह क्षेत्र में कांग्रेस की करारी शिकस्त हुई है. उनके पूर्व प्रदेश अध्यक्ष के गृह जिले में भी कांग्रेस की करारी हार हुई है. इससे साबित होता है कि कांग्रेस पार्टी राजस्थान में आधे रास्ते में ही दम तोड़ रही है. अनेक जिलों में सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग कर चुनाव नतीजों को भी प्रभावित करने की कोशिश की गई, लेकिन मैं भाजपा कार्यकर्ताओं के परिश्रम का अभिनंदन करता हूं, जिन्होंने सत्ता के खिलाफ, सरकार की बदनीयति के खिलाफ इस लड़ाई में जीत हासिल की.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें