गहलोत सरकार अपने कर्मों से ही गिरेगी : सतीश पूनिया

Smart News Team, Last updated: 07/12/2020 08:48 PM IST
  • राजस्थान भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया ने कहा- गहलोत सरकार के मंत्रियों की न कोई चाल है, न चेहरा है और न चरित्र है. यह सरकार अपनी ‘सी’ ग्रेड कैटेगरी टीम के कारण विफल हो चुकी है. मुख्यमंत्री गहलोत ने भाजपा और केंद्रीय मंत्रियों पर जो तथ्यहीन और झूठे आरोप लगाए हैं, वो आठवां आश्चर्य जैसा है.
राजस्थान भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया

जयपुर. राजस्थान भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया ने वर्चुअल प्रेस कांफ्रेंस में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि पिछले दो सालों से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जो सरकार चला रहे हैं, वो आज तक के इतिहास की सबसे अराजक एवं अकर्मण्य और भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने वाली सरकार है. यह सरकार कानून व्यवस्था, वित्तीय प्रबंधन में भी असफल है. मुख्यमंत्री गहलोत सरकार चलाने में पूरी तरह से विफल साबित हो चुके हैं. उस विफलता का कारण है कि उनके पास खुद की सोच तो है ही नहीं. लेकिन उनके साथ जो टीम है वो किसी जमाने में क्रिकेट की जिम्बाब्वे की ‘सी’ ग्रेड की कैटेगरी की टीम जैसी लगती है. 

गहलोत सरकार के मंत्रियों की न कोई चाल है, न चेहरा है और न चरित्र है. इसलिए ये सरकार अपनी ‘सी’ ग्रेड कैटेगरी टीम के कारण विफल हो चुकी है. डॉ. पूनिया ने कहा कि मुख्यमंत्री गहलोत ने भाजपा, केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह, केन्द्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान पर जो तथ्यहीन और झूठे आरोप लगाए हैं, वो आठवां आश्चर्य जैसा है. पूनिया ने इन आरोपों की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि 17 दिसम्बर को राज्य सरकार को 2 साल पूरे हो जाएंगे, जिसकी पहचान अराजकता, अकर्मण्यता और भ्रष्टाचार के रूप में हो चुकी है. कांग्रेस सरकार में गांव से लेकर शहरों तक विकास पूरी तरह ठप पड़ा हुआ है. युवाओं को बेरोजगारी भत्ता नहीं मिल रहा है. बजट घोषणा में जिन भर्तियों की घोषणा की थी, वो लम्बित पड़ी हैं. किसान पिछले दो साल से पूर्ण कर्ज माफी का इंतजार कर रहे हैं, लेकिन इस बारे में प्रदेश के किसानों से 10 दिन में पूर्ण कर्ज माफी का वादा करने वाले न राहुल गांधी बोल रहे हैं और न ही अशोक गहलोत. 

गहलोत सरकार गिराने के प्रयास के हैं पुख्ता सबूत : गोविंद डोटासरा

डॉ. पूनिया ने कहा कि गहलोत सरकार कोरोना प्रबंधन में पूरी तरह फेल है. संक्रमितों एवं मौतों के आंकड़े छुपाए जा रहे हैं. महिला अपराध पर लगाम लगाने में भी सरकार विफल साबित हो रही है. उन्होंने कहा कि मेवात सहित प्रदेश के विभिन्न जिलों में ‘लव जिहाद’ के मामले सामने आ रहे हैं, जिनको रोकने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार की तरह राज्य सरकार को भी कानून बनाना चाहिए. पूनिया ने कहा कि हमने सरकार गिराने के लिए न पहले साजिश की, न सरकार गिराएंगे. यह सरकार अपने कर्मों एवं अन्दरूनी कलह से ही गिरेगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें