बिजली की वजह से दूल्हे नहीं बन पा रहे थे राजस्थान के इस गांव में लड़के, अब 74 साल बाद....

MRITYUNJAY CHAUDHARY, Last updated: Mon, 18th Oct 2021, 5:19 PM IST
  • राजस्थान के बूंदी जिले के कोचरीया जिले में आजादी के 74 साल बाद बिजली पहुंची. वहीं बिजली के आभाव में यहां के युवकों की शादी में भी काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता था.
बिजली नहीं होने पर इस गांव के युवको की नहीं हो रही थी शादी, आजादी के बाद पहली बार पहुंची इलेक्ट्रिसिटी

जयपुर. राजस्थान के बूंदी जिले के कोचरीया गांव में आजादी के 74 साल बाद पहुंची. वहीं इस गांव में बिजली का कनेक्शन दो दिन पहले ही पहुंची है. साथ हो इस गांव में बिजली का बल्ब दिवाली से पहले जलने से पूरा गांव जगमगा गया. साथ ही गांव में बिजली आ जाने से ग्रामीण भी काफी कुछ है. इतना ही नहीं इस गांव में बिजली नहीं होने के चलते यहां के युवाओं कि शादी भी बड़ी मुश्किल से हो पाती थी. वहीं बिजली के आभाव में इस गांव में लोग अपनी बेटियां ब्याहने में कतराते थे.

मिली जानकारी के अनुसार इस गांव में करीब 40 घर है. जहां पर अभी तक बिजली कि सुविधा नहीं थी. साथ ही यह भी बताया जा रहा है कि गांव के लोग बिजली के कनेक्शन के लिए सालों से प्रशासन से गुहार लगा रहे थे. उसके बावजूद भी गांव में बिजली का कनेक्शन नहीं पहुंच पा रहा था. साथ ही यहाँ पर बिजली नहीं होने के चलते रोजमर्रा के काम भी प्रभावित होते थे. साथ ही बच्चो कि पढाई में भी बढ़ा आती थी. जिसको लेकर ग्रामीणों ने करीब तीन महीने पहले पूर्व लोकसभा अध्यक्ष बिरला को पत्र लिखकर अपनी पीड़ा बताई थी

गांव में बिजल पहुंचने पर ग्रामीणों ने लोकसभा अध्यक्ष बिरला का आभार जताया है. वहीं गांव में बिजली आ जाने से ग्रामीणों के चेहरे पर खुशी की लहर दौड़ गई है. ग्रामीणों का कहना है कि गांव में बिजली पहुंच जाने से अब बच्चे रात में भी पढ़ाई कर सकेंगे. साथ ही अब रोजमर्रा के काम करने में भी दिक्क्तों का सामना नहीं करना पड़ेगा. इतना ही नहीं गांव में बिजली पहुंचने पर ग्रामीणों ने स्कूल निर्माण की मांग किया है. ग्रामीणों ने गांव में स्कूल खोलने का आग्रह  लोकसभा अध्यक्ष बिरला से किया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें