राजस्थान में गुलाबी मौसम के साथ बारिश की संभावना, मौसम विभाग की किसानों को सलाह

Anurag Gupta1, Last updated: Sat, 16th Oct 2021, 11:59 AM IST
  • राजस्थान में गुलाबी सर्दी के बीच बारिश की संभावना. मौसम विभाग ने 16- 17 अक्टूबर को लगाया बारिश का अनुमान. मौसम विभाग की किसानों को सलह कृषि मंडियों, खेतों में खुले आसमान में रखे अनाज को बचाने का पुख्ता इंतजाम कर लें.
(फाइल फोटो)

जयपुर: जयपुर (Jaipur) में अक्टूबर महीने की शुरुआत होते ही मौसम ने करवट बदलना शुरू कर दिया है. प्रदेश में सर्द हवाओं के साथ ही गुलाबी सर्दी का अहसास शुरू होने लगा है. प्रदेश में आने वाले समय में एक बार फिर मौसम का मिजाज बदलने की संभावना है. मौसम के बदलते रूख को देखते हुए माना जा रहा है कि प्रदेश में एक बार फिर बारिश हो सकती है. जिसके चलते प्रदेश में आचनक ही सर्दी का असर भी बढ़ने की संभावना है.

जयपुर में रहने वाले लोगों को बीते कुछ दिनों से गर्मी और उमस से राहत मिलने लगी है, इसकी वजह जम्मू कश्मीर में हो रही बर्फबारी को माना जा रहा है. वहीं अब प्रदेश में दो सिस्टम के सक्रिय होने से आने वाले दिनों में प्रदेश के 4 संभागों में एक बार फिर से बारिश होने की संभावना जताई जा रही है. जयपुर, भरतपुर, कोटा और बीकानेर इलाके में 16 व 17 अक्टूबर को हल्की बारिश की संभावना जताई जा है. जिसका असर 18-19 अक्टूबर तक रहेगा.

पेट्रोल डीजल 16 अक्टूबर का रेट: जयपुर, जोधपुर, बीकानेर, अजमेर में कीमतें बढ़ी

कुछ इलाकों में बारिश के साथ पुरवाई चलेगी:

जयपुर मौसम विभाग के निदेशक डॉ. राधेश्याम ने बताया कि राज्य में आने वाले दिनों में एक नया बारिश का क्षेत्र बनने जा रहा है. उन्होंने बताया कि इसके प्रभाव से राजस्थान में 16 और 17 अक्टूबर को ज्यादातर भागों बारिश के साथ पुरवाई की संभावना है. साथ ही बताया कि पश्चिम विक्षोभ भी उत्तर-पश्चिम भारत के क्षेत्रों में सक्रिय रहेगा. इन दोनों सिस्टमों के कारण राजस्थान के कई हिस्सों में बारिश होगी.

किसानों को सलाह:

मौसम विभाग ने किसानों को सलाह देते हुए कहा कि मौसमी तंत्र के मद्देनजर किसानों से बताया जा रहा है उनकी जो फसल पक चुकी है उसको काट लें. जो काट कर खुले में रखी है उसको बचाने के लिए किसी चीज से ढकने का इंतजाम कर लें. कृषि मंडियों, खेतों में खुले आसमान में रखे अनाज को भी बचाने का पुख्ता इंतजाम कर लें.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें