राजस्थान विधानसभा चलाएंगे स्कूली बच्चे, कुर्ता-पयजामा पहन बनेंगे अध्यक्ष, पक्ष और विपक्ष नेता

Sumit Rajak, Last updated: Thu, 11th Nov 2021, 10:55 AM IST
  • बाल दिवस पर राजस्थान विधानसभा के अंदर 200 बच्चों को अनुमति दी जाएगी और उन्हें सदन चलाने का मौका मिलेगा.सत्र के लिए बच्चे कुर्ता और पायजामा पहने नजर आएंगे. इस कार्यक्रम को राजस्थान विधानसभा के यूट्यूब चैनल पर सीधा प्रसारण किया जाएगा.बच्चों को विधानसभा अध्यक्ष, विपक्ष के नेता, मंत्रियों, मुख्य सचेतक और उप मुख्य सचेतक सहित विभिन्न भूमिकाओं में देखा जाएगा.
FILE PHOTO

जयपुर. राजस्थान विधानसभा 14 नवंबर को स्कूली बच्चों को सदन की कार्यप्रणाली से अवगत कराने के लिए एक सत्र आयोजित करेगी.भारत के इतिहास का पहला बाद विघानसभा सत्र आयोजित होगा जिसकी तैयारी जारी हैं. राज्य विधानसभा कैसे काम करती है, इसका अनुभव करने के लिए लगभग 200 बच्चों का चयन किया गया है.इन बच्चों को 14 नवंबर को राजस्थान विधानसभा के अंदर  अनुमति दी जाएगी और उन्हें सदन चलाने का मौका मिलेगा.

देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की जयंती बाल दिवस पर सत्र के दौरान वे मुख्यमंत्री, अध्यक्ष, विपक्ष के नेता और विधायकों की भूमिका में नजर आएंगे.जवाहरलाल नेहरू ने एक बार कहा था, “आज के बच्चे ही कल का भारत बनाएंगे.” बाल दिवस के अवसर पर राजस्थान विधानसभा के विशेष सत्र के दौरान स्कूली बच्चों को सरकार की आंतरिक कार्यप्रणाली देखने को मिलेगी.इसमें एक प्रश्नकाल और शून्यकाल होगा, जिसमें छात्र उत्तर पाने के लिए मुद्दे उठाएंगे.विधानसभा में प्रश्नकाल के समाप्त होने पर शुन्यकाल शुरू होता है.इस समय अहम मुद्दे उठा सकतें हैं.बच्चों को विधानसभा अध्यक्ष, विपक्ष के नेता, मंत्रियों, मुख्य सचेतक और उप मुख्य सचेतक सहित विभिन्न भूमिकाओं में देखा जाएगा.

Rajasthan Police Constable Recruitment: राजस्थान पुलिस में कांस्टेबल पद पर बंपर भर्ती, ऐसे करें अप्लाई

 इस अवसर पर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, राजस्थान के अध्यक्ष सीपी जोशी, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सदन में विपक्ष के नेता गुलाब चंद कटारिया मौजूद रहेंगे.सत्र राष्ट्रमंडल संसदीय संघ की राजस्थान शाखा के तत्वावधान में आयोजित किया जाएगा. इसके लिए बाल सत्र के लिए तैयारियां जारी है.

जोशी ने कहा कि आने वाली पीढ़ियों को सदन चलाने, सवाल पूछने और अनुशासन के साथ अपने विचार व्यक्त करने का मौका दिया गया है.उन्होनें कहा कि  सत्र के लिए बच्चे "कुर्ता और पायजामा" पहने दिखाई देंगे.वहीं कार्यक्रम का सीधा प्रसारण राजस्थान विधानसभा के यूट्यूब चैनल पर किया जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें