राजस्थान निकाय चुनाव : जयपुर के चौमूं नगरपालिका में 10 साल बाद कांग्रेस का कब्जा

Smart News Team, Last updated: 13/12/2020 03:20 PM IST
  • जयपुर के चौमूं नगरपालिका में पूर्ण बहुमत के साथ कांग्रेस का बोर्ड बनना तय है. चौमूं नगरपालिका में 10 साल बाद कांग्रेस का कब्जा हुआ है. यहां पर विधायक रामलाल शर्मा भाजपा का कमल खिलाने में कामयाब नहीं हो सके. पूरे परिणाम देर शाम तक आने की उम्मीद है.
फाइल फोटो

जयपुर. राजस्थान के 12 जिलों के 50 नगरीय निकायों में आज मतगणना के साथ ही प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला होना शुरू हो गया है. इन चुनाव परिणामों में राजस्थान कांग्रेस सरकार के छह मंत्रियों के प्रदर्शन पर भी नजर रहेगी. इसका कारण है कि हाल ही में पंचायत चुनाव में प्रदेश की सरकार के अधिकांश मंत्रियों का उनके क्षेत्रों में प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा. 

ऐसे में शहरी सरकार के लिए 7 नगर परिषद और 43 नगर पालिका के चुनाव के परिणामों में छह मंत्रियों के क्षेत्रों के नगर परिषद व नगर पालिकाओं के परिणाम से अब इनके कामकाज का  आंकलन होगा. नगर पालिकाओं में 10 नगर पालिका राजधानी जयपुर जिले की भी है. जयपुर के चौमूं नगरपालिका में पूर्ण बहुमत के साथ कांग्रेस का बोर्ड बनना तय है. चौमूं नगरपालिका में 10 साल बाद कांग्रेस का कब्जा हुआ है. यहां पर विधायक रामलाल शर्मा भाजपा का कमल खिलाने में कामयाब नहीं हो सके. वहीं, श्रीगंगानगर की चारों नगर पालिकाओं में भाजपा को बहुमत मिला है. हालांकि पूरे परिणाम देर शाम तक आने की उम्मीद है.

सीएम गहलोत ने कहा- हमारा ध्यान कोरोना पर था और विपक्ष ने लोगों को भ्रमित किया

 निकायों में चुनाव परिणाम के बाद कल अध्यक्ष के लिए अधिसूचना जारी होगी. इसके बाद 15 दिसंबर को दोपहर 3 बजे तक नामांकन प्रस्तुत किया जा सकेगा. 16 दिसंबर को नामांकन पत्रों की जांच होगी और 17 दिसंबर तक नाम वापस लिए जा सकेंगे। चुनाव चिन्ह का आवंटन 17 दिसंबर को होगा. अध्यक्ष के लिए मतदान 20 दिसंबर को सुबह 10 से दोपहर 2 बजे तक होगा, जबकि मतगणना मतदान की समाप्ति के तुरंत बाद होगी. इसी तरह उपाध्यक्ष के लिए निर्वाचन 21 दिसंबर को होगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें