गहलोत सरकार का बेरोजगारी भत्ता नियम में बदलाव, ये काम करने पर ही मिलेंगे पैसे

Smart News Team, Last updated: Tue, 13th Apr 2021, 6:02 PM IST
  • राजस्थान सरकार ने बेरोजगारी भत्ते के नियम में बड़ा बदलाव किया गया है. अब ग्रेजुएट बेरोजगारों को स्किल डेवलेपमेंट कोर्स करना होगा. इसके बाद भी नौकरी न मिलने पर बेरोजगारी भत्ता दिया जाएगा.
राजस्थान सरकार ने बेरोजगारी भत्ता के पैसों में बढ़ोत्तरी की है.

जयपुर. राजस्थान की गहलोत सरकार ने बेरोजगारी भत्ते के नियमों में बड़ा बदलाव किया है. जिसके मुताबिक, अब बेरोजगारी भत्ते के लिए पहले स्किल डेवलेपमेंट कोर्स करना होगा. इसके बाद भी नौकरी न मिलने पर बेरोजगारी भत्ता मिलेगा. राजस्थान सरकार ने बेरोजगार भत्ते की संख्या और पैसे दोनों में बढ़ोत्तरी की है. सरकार के इस नियम से उनको ही भत्ता मिलेगा जो इसके हकदार होंगे.

बेरोजगारी भत्ते के लिए राज्य सरकार ने नियमों में बदलावा किए हैं. इससे बेरोजगारों को नौकरी के मौके दिए जाएंगे. अब घर पर बैठने पर बेरोजगारों को भत्ता नहीं मिलेगा. इसके लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी. शिक्षित बेरोजगारों को स्किल डेवलपेंट सेंटर में स्किल कोर्स करने होंगे. इसके बाद भी जिन लोगों को नौकरी नहीं मिलेगी, सरकार उनको बेरोजगारी भत्ता देगी.

RAS Exam 2018 : इंटरव्यू के वक्त अभ्यर्थी का कोरोना रिपोर्ट साथ ले जाना जरूरी

मिली जानकारी के मुताबिक, मुख्यमंत्री युवा संबल योजना के जरिए बेरोजगारों को इसका लाभ मिलेगा. प्रदेश में पुराने रजिस्टर्ड 1 लाख 60 हजार बेरोजगारों को स्किल कोर्स करना होगा. फिलहाल रोजगार विभाग नए नियमों पर कार्य योजना की तैयारी कर रहा है. पहले इस योजना को 1 अप्रैल से लागू होना था लेकिन अब कुछ दिन बाद इस योजना को नई शर्तों के साथ लागू कर दिया जाएगा.

राजस्थान सरकार का बड़ा फैसला- इन क्लासों के बच्चे बिना एग्जाम होंगे प्रमोट

आपको बता दें कि इससे पहले राजस्थान के 1 लाख 60 हजार ग्रेजुएट बेरोजगारों को ही भत्ता मिलता था लेकिन अब सरकार ने इसकी संख्या बढ़ाकर 2 लाख कर दी है. इसके अलावा सरकार ने भत्ते के पैसे भी बढ़ाए हैं. लड़कियों को पहले हर महीने 3 हजार 500 रुपए और लडकों को 3 हजार रुपए मिलते थे. अब लड़कियों को हर महीने साढ़े 4 हजार और लड़कों को 4 हजार रुपए बेरोजगारी भत्ता मिलेगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें