राजस्थान में नहीं होगी शराबबंदी, सरकार ने कहा- शराब से भरता है सरकारी खजाना

Smart News Team, Last updated: Mon, 23rd Aug 2021, 5:03 PM IST
  • राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार ने प्रदेश में शराबबंदी को करने से साफ इंकार कर दिया है. सरकार ने कहा है की प्रदेश में शराबबंदी नहीं की जाएगी क्योंकि शराब से सरकार को का खजाना भरता है. सरकार ने एक लिखित सवाल के जवाब में यह बात कही है.
राजस्थान में सरकार ने शराबबंदी की बात से इंकार किया है. (फाइल फोटो)

जयपुर. राजस्थान में अशोक गहलोत सरकार ने प्रदेश में शराब बैन करने से इंकार कर दिया है. सरकार का कहना है की शराब से सरकारी खजाना भरता है. सरकार ने विधानसभा में पूछे गए एक सवाल में यह जवाब दिया है. बीजेपी विधायक मदन दिलावर ने सरकार से शराबबंदी पर सवाल किया था. जिसके बाद सरकार ने यह जवाब दिया है. सरकार का कहना है की शराबबंदी से बेहतर है की हम जनता को अच्छी शराब उपलब्ध कराये. सरकार शराबबंदी को लेकर अभी किसी भी प्रस्ताव पर काम नहीं कर रही है. राजस्थान सरकार की इस जवाब से विपक्ष ने निशाना साधना शुरू कर दिया है.

राजस्थान में बीजेपी विधायक मदन दिलावर ने राजस्थान सरकार से लिखित सवाल में शराबबंदी को लेकर कहा था की प्रदेश में क्या शराब को पूरी तरह से प्रतिबंधित करना उचित और अनिवार्य नहीं है. बीजेपी विधायक ने कहा है की प्रदेश में लगातार शराब पीकर दुर्घटना के मामले बढ़ते जा रहे हैं. इस कारण सरकार को प्रदेश में शराबबंदी को लेकर काम करना चाहिए. बीजेपी विधायक ने कहा है की सरकार का उद्देश्य शराब से पैसा कमाना है. सरकार को प्रदेश की जनता का ध्यान रखते हुए शराबबंदी को लेकर विचार करना चाहिए.

कल्याण सिंह के सम्मान में गहलोत सरकार ने किया दो दिनों के शोक का ऐलान, 23 अगस्त को अवकाश

राजस्थान में काफी समय से शराबबंदी को लेकर काफी समय से मांग की जा रही है. सरकार के शराब से आय वाले जवाब पर बवाल मचना तय है. पूर्व की बीजेपी सरकार में पूर्व विधायक गुरुशरण छाबड़ा की शराबबंदी को लेकर अनशन करते हुए जान चली गई थी.  गुरुशरण की मौत पर प्रदेश में उस वक्त खूब हंगामा हुआ था. लेकिन आज भी गुरुशरण के परिवार वाले शराबबंदी की मांग पर अड़े हुए हैं. राजस्थान में सरकार ने इस साल शराब से 13 हजार करोड़ रूपये की आय का टारगेट रखा है.  

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें