राजस्थान सरकार करेगी जमीनों का डिजिटल रिकॉर्ड तैयार, लोगों को होगा ये फायदा

Smart News Team, Last updated: Mon, 16th Aug 2021, 9:39 PM IST
  • राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की सरकार रानी के जमीन के डिजिटल रिकॉर्ड तैयार करने जा रही है. जिसके बारे में राजस्थान राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने बताया. उन्होंने कहा कि जमीन का रिकॉर्ड सेटेलाइट से मिली इमेज, रिकॉर्ड में उपलब्ध नक्शों और धरातल की स्थिति का मिलान करके फाइनल रिकॉर्ड तैयार करेगी.
राजस्थान सरकार करेगी जमीनों का डिजिटल रिकॉर्ड तैयार, लोगों को होगा ये फायदा

जयपुर. राजस्थान सरकार जमीनी रिकॉर्ड को डिजिटल करने जा रही है. जिसे ऑनलाइन करने की कवायद भी तेज कर दी है. जिसके बारे में राजस्थान राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने बताया. उन्होंने बताया कि डिजिटल सेटलमेंट के जरिए प्रदेश भर की सभी जमीन का फाइनल रिकॉर्ड तैयार किया जाएगा. जो काम पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर शुरू भी कर दिया गया है. साथ ही उन्होंने यह भी बताया की राजस्थान की जमीन को सेटेलाइट से मिली फोटो, रिकॉर्ड में उपलब्ध नक्शे और धरातल की स्थिति का मिलान करके रिकॉर्ड तैयार किया जाएगा. 

हरीश चौधरी ने आगे बताया कि जमीन का डिजिटलीकरण हो जाने के बाद उसमें कोई फेरबदल नहीं किया जा सकेगा. साथ ही बताया की जमीन का डिजिटल रेकॉर्ड हो जाने के बाद भूमि की हकदारी को लेकर होने वाले विवाद को निपटाने में लांब समय भी नहीं लगेगा. साथ ही काश्तकारों को परेशानियों का सामना कम करना पड़ेगा. वहीं जमीन का फाइनल डेटा तैयार करने के बाद जमीन की स्थिति में अंतर होने पर काश्तकारों को सुनवाई का मौका भी दिया जाएगा. जिसके निस्तारण के बाद फाइनल स्टेटस रिकॉर्ड दर्ज किया जाएगा. 

Govt Jobs: राजस्थान में गणित, विज्ञान और अंग्रेजी शिक्षकों के लिए वैकेंसी

इसके अलावा उन्होंने बताया कि जमीन का डिजिटल रिकॉर्ड अभी केवल 12 तहसील में ही किया जा रहा है. जहां का पूरा काम होने के बाद पूरे प्रदेश में यह कार्य किया जाएगा. इसके साथ ही उन्होंने आगे बताया कि प्रदेश के 340 तहसील में से करीब 295 तहसीलों को ऑनलाइन किया जा चुका है. जिससे किसानों से जुड़े अधिकांश कार्य ऑनलाइन हो रहे है. तहसीलों के ऑनलाइन हो जाने से लोगों को दफ्तरों के चक्कर लगाने निजात मिली है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें