CM गहलोत का अमित शाह पर तंज, बोले- गृहमंत्री ने अपने भाषण में जनता को भ्रमित किया

MRITYUNJAY CHAUDHARY, Last updated: Mon, 6th Dec 2021, 9:07 PM IST
  • गृहमंत्री अमित शाह के जयपुर में दिए गए भाषण को राजस्थान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गलत बताया है. सीएम गहलोत ने कहा कि अमित शाह ने अपने भाषण में जनता को भ्रमित करने का प्रयास किया. अमित शाह ही जनता को सत्य बताने की हिम्मत नहीं है.
CM गहलोत का अमित शाह पर तंज, बोले- गृहमंत्री ने अपने भाषण में जनता को भ्रमित किया (PTI)

जयपुर. राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जयपुर में गृहमंत्री अमित शाह के भाषण पर ट्वीट कर बयान जारी किया है. सीएम गहलोत ने कहा कि अमित शाह ने अपने भाषण में जनता को भ्रमित करने का प्रयास किया. वह राजस्थान आकर अनर्गल बातें कर रहे हैं. प्रदेश भाजपा ने उन्हें सत्य से अवगत नहीं करवाया या फिर उनमे अमित शाह को सत्य बताने की हिम्मत नहीं है अथवा उनका जानबूझकर जनता को भ्रमित करने का प्रयास है. सीएम अशोक ने कहा कि कोविड के दौरान राजस्थान आम आदमी को राहत दिलाने में सबसे आगे रहा है.

सीएम गहलोत ने कहा कि कोरोना वायरस के कारण अनाथ हुए बच्चों और विधवा हुई महिलाओं के लिए सरकार ने पैकेज जारी किया. सरकार अनाथ हुए बच्चों को पेंशन और प्रति वर्ष स्कूल ड्रेस और किताबों के लिए दिर गए हैं. वहीं विधवाओं महिलाओं को लाख रुपए तत्काल प्रतिमाह 1500 पेंशन दी जा रही है. साथ ही उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने अनाथ बच्चों के लिए दिए गए पैकेज में कोई तुरंत कोई सहायता नहीं दी जा रही है. वहीं विधवा महिलाओं के लिए किसी सहायता का प्रावधान नहीं है.

इश्क में भूला सरहद: प्रेमिका से मिलने बॉर्डर पार कर रहा पाकिस्तानी युवक अरेस्ट

इसके साथ ही सीएम गहलोत ने पेट्रोल-डीजल कि कीमतों पर कहा कि हमारी सरकार ने  29 जनवरी को 29 फीसद बैट कम किया जब किसी अन्य राज्य ने नहीं किया था. केंद्र सरकार द्वारा डीजल पर 5 रुपये एवं पेट्रोल पर 4 रुपये वेट कम किया जिससे प्रदेश सरकार को 3500 करोड़ रुपये की राजस्व हानि हुई. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि राजस्व हानि के बावजूद हमारी मांग है कि केन्द्र सरकार पेट्रोल के दाम 10 रुपये एवं डीजल के दाम 15 रुपये कम करें जिससे आमजन को राहत मिल सके. पेट्रोल-डीजल को 100 रुपये से अधिक ले जाने वाली मोदी सरकार के गृह मंत्री को इस मुद्दे पर जनता को गुमराह करने का कोई हक नहीं है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें