CM उम्मीदवार बने बैठे BJP नेताओं में सेंस नहीं, मूर्ख और बेवकूफ हैं: अशोक गहलोत

Ankul Kaushik, Last updated: Tue, 12th Oct 2021, 5:55 PM IST
  • राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रदेश में हुई दलित युवक की हत्या पर हो रही राजनीति पर बीजेपी नेताओं को मूर्ख और बेवकूफ कहा है. सीएम गहलोत ने कहा कि राजस्थान में होने वाली घटनाओं पर राहुल गांधी या प्रियंका गांधी नहीं बल्कि विपक्ष के तौर पर बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं को आना चाहिए.
CM गहलोत ने BJP नेताओं को बताया मूर्ख और बेवकूफ (फाइल फोटो)

जयपुर. राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रदेश में दलित युवक के पीट पीटकर की गई हत्या के मामले पर बीजेपी के नेताओं को मूर्ख और बेवकूफ बताया है. सीएम गहलोत ने कहा कि राजस्थान में कांग्रेस की सरकार है और यहां पर राहुल गांधी और प्रियंका गांधी नहीं बल्कि विपक्ष के नेता के तौर पर बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं को आना चाहिए. इसके साथ ही सीएम ने कहा कि राजस्थान में कुछ ऐसे भी नेता हैं जो सीएम उम्मीदावर बनकर बैठे हैं लेकिन वह हर समय बेवकूफी की बातें करते हैं. क्योंकि बीजेपी के नेताओं की यह बात रहती है कि राजस्थान में होने वाली घटनाओं में प्रियंका गांधी और राहुल गांधी क्यों नहीं आते हैं. ऐसे नेताओं से मेरा कहना है कि राजस्थान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्‌डा को आना चाहिए.

इन सभी को विपक्ष के तौर पर यहां आकर पता लगाना चाहिए कि हनुमानगढ़ के पीलीबंगा में प्रेमपुरा में दलित युवक की पीट पीटकर हत्या क्यों की गई थी और किसने की थी. बीजेपी नेताओं को पीड़ित परिवार के घर जाकर पता करें कि आखिर उसकी हत्या क्यों हुई. इसके साथ ही सीएम गहलोत ने कहा कि मूर्ख लोग बीजेपी के पदाधिकारी बन गए हैं जिन्हें ये भी नहीं पता कि किस तरह की घटना पर क्या रिएक्ट करना चाहिए.

राहत: राजस्थान में धार्मिक आयोजन को मिली इजाजत, नाइट कर्फ्यू रहेगा जारी

बता दें कि उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा में मारे गए किसानों के परिवार से कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी और राहुल गांधी ने मुलाकात की थी. इस मुलाकात को लेकर बीजेपी ने कहा था कि राहुल और प्रियंका राजस्थान में हुई दलित युवक की पिटाई पर कुछ क्यों नहीं बोलते हैं. अब सीएम गहलोत ने कहा है कि बीजेपी राजस्थान में विपक्ष है और उसे यहां आना चहिए न कि प्रियंका और राहुल गांधी यहां आए. इसके साथ ही सीए ने कहा यूपी हो या अन्य राज्य जहां केन्द्र में सत्ताधारी पार्टी बीजेपी की ही सरकारें हैं,वहां हम विपक्ष के तौर पर जाएंगे. बताते चलें कि बीजेपी ने पीलीबंगा में डेलीगेशन भेज कर घटना की जानकारी ली है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें