कांग्रेस में कलह: कैबिनेट बैठक में अशोक गहलोत के सामने भिड़े दो मंत्री, CM ने...

Shubham Bajpai, Last updated: Wed, 17th Nov 2021, 8:22 PM IST
  • राजस्थान में कांग्रेस की अंर्तकलह फिर से कैबिनेट बैठक में खुलकर सामने आ गई. जब शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा और राजस्व मंत्री हरीश चौघरी के बीच कामों को लेकर जमकर बहस हो गई. बहस इतनी बढ़ गई कि दोनों मंत्रियों की नोकझोंक को शांत कराने सीएम अशोक गहलोत को बीच में हस्ताक्षेप करना पड़ा. 
कैबिनेट बैठक में फिर सामने आई कांग्रेस की अंर्तकलह, भिड़े डोटासरा और हरीश चौधरी

जयपुर. राजस्थान कांग्रेस में वर्चस्व की लड़ाई खत्म होने का नाम नहीं ले रही है. अब मंगलवार शाम को हुई अशोक गहलोत सरकार की कैबिनेट मीटिंग में उस वक्त असहज स्थिति बन गई, जब शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा और राजस्व मंत्री हरीश चौधरी में नोकझोंक शुरू हो गई. कामों को लेकर शुरू हुई ये नोकझोंक बहस में बदल गई. जिसके बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को बीच बचाव करते हुए मामला शांत कराना पड़ा.

ये कोई पहला मामला नहीं, इससे पहले जून में हुई कैबिनेट बैठक में शांति धारीवाल और गोविंद सिंह डोटासरा के बीच बहस हो गई थी. उस वक्त कोरोना टीकाकरण की कमी को लेकर दोनों नेताओं के बीच तीखी नोकझोंक हो गई थी, हालांकि कुछ समय बाद दोनों नेताओं में सुलह हो गई थी.

IND vs NZ Match: राजस्थान में बढ़ते कोरोना के बीच फुल स्टेडियम मैच पर सियासत

चौधरी से बोले डोटासरा 'मत दिखाया करो धौंस'

कैबिनेट बैठक में अटके हुए काम को लेकर चर्चा के दौरान गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा प्रशासन गांवों के संग अभियान में कई काम राजस्व विभाग की वजह से रूके हुए हैं और राजस्व मंत्री(हरीश चौधरी) चड़ीगढ़ में जाकर बैठ गए हैं, हम किससे जाकर कम कहें. इस पर तल्ख अंदाज में हरीश चौधरी ने कहा कि आप काम बताए जाए, मैं चंड़ीगढ़ में बैठकर ही सब करा दूंगा. जरूरी हुआ तो मैं जयपुर आपके पास आ जाऊंगा. काम पर चड़ीगढ़ या जयपुर रहने का फर्क नहीं पड़ता है. इस दौरान डोटासरा ने कहा कि आप धौंस मत दिखाया करो. जिससे कहासुनी बढ़ गई. जिसको शांत कराने के लिए खुद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को दखल देकर मामला शांत कराना पड़ा.

जयपुर: परिवार संग वृंदावन गई युवती के साथ दुष्कर्म, वीडियो बनाकर किया ब्लैकमेल

हरीश चौधरी के इस बयान से बढ़ी रार

बता दें कि हरीश चौधरी ने एक बयान दिया था कि एख व्यक्ति के पास एक ही पद होना चाहिए. जिससे गुजरात के प्रभारी बनाए गए स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा और शिक्षा मंत्री व प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा नाराज चल रहे हैं क्योंकि इस बयान के सामने आने के बाद से ही दोनों मंत्रियों पर पद छोड़ने का दबाव पड़ रहा है. हालांकि पंजाब प्रभारी बनाए जाने के बाद हरीश चौधरी खुद मंत्री पद छोड़ने की बात कह चुके हैं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें