तेजी से घूम रहा राजस्थान कांग्रेस का पहिया, हफ्ते में दूसरी बार राहुल से मिले सचिन, प्रियंका भी थीं

Smart News Team, Last updated: Fri, 24th Sep 2021, 10:56 PM IST
  • राजस्थान कांग्रेस का सियासी पहिया इन दिनों तेजी से घूमता नजर आ रहा है. सचिन पायलट ने एक हफ्ते में दूसरी बार राहुल गांधी से मुलाकात की है. इस मीटिंग के दौरान प्रियंका गांधी भी मौजूद थीं.
सचिन पायलट ने एक ही हफ्ते में दूसरी बार राहुल गांधी से मुलाकात की है.(फाइल फोटो)

जयपुर. पंजाब में चरणजीत सिंह चन्नी को सीएम बनाकर कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू का झगड़ा निपटाने के बाद राहुल गांधी और प्रियंका गांधी का फोकस राजस्थान पर शिफ्ट हो गया है. राजस्थान में सीएम अशोक गहलोत के खिलाफ मोर्चा खोले बैठे पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट से राहुल गांधी ने एक सप्ताह के अंदर दूसरी बार मुलाकात की है. इस सप्ताह राहुल और सचिन की पहली मुलाकात 17 सितंबर को हुई थी और शुक्रवार को जब दोबारा दोनों मिले तो साथ में महासचिव प्रियंका गांधी भी थीं. कांग्रेस सूत्र हालांकि कह रहे हैं कि इन मुलाकातों का राज्य में सत्ता परिवर्तन से संबंध नहीं है लेकिन राजनीति में ऐसा यकीन के साथ माना नहीं जा सकता.

राजस्थान कांग्रेस की राजनीति का पहिया तेजी से घूम रहा है यह इससे भी साफ होता है कि सचिन से मिलने से पहले शुक्रवार को राहुल गांधी राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री और गहलोत के करीबी रघु शर्मा से मुलाकात की. राहुल ने राजस्थान के नेताओं से मुलाकात पर घंटों समय लगाया है जिससे इस संभावना को दम मिला है कि कुछ तो होने वाला है. कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि राहुल और प्रियंका की सचिन से चाहते हैं कि सचिन गुजरात के कांग्रेस प्रभारी बनें जहां 2022 में विधानसभा चुनाव होना है. सूत्रों का कहना है कि सचिन पायलट गुजरात में प्रचार संभालने को तैयार हो गए हैं लेकिन राजस्थान में अपने भविष्य पर भरोसा मांगा है. सूत्रों ने कहा कि सचिन ने अपने भरोसेमंद लोगों को राज्य में मंत्री बनाने की भी चर्चा की है. 

राजस्थान में बेसहारा विवाहित युवतियों को मिलेगी अनुकंपा नियुक्ति, गहलोत सरकार का फैसला

एचटी ने सचिन पायलट और रघु शर्मा से संपर्क किया लेकिन दोनों का जवाब नहीं मिला है. पायलट जब 17 सितंबर को राहुल से मिले थे तब कहा गया था कि मुलाकात में राजस्थान के हालात के साथ-साथ 2014 के लोकसभा चुनाव पर बात हुई थी. शुक्रवार को राहुल से मिलने से पहले पायलट जयपुर में विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी से भी मिले थे जो राहुल के करीबी माने जाते हैं. गहलोत सरकार के एक मंत्री ने कहा कि राजस्थान में पंजाब की तरह सत्ता का परिवर्तन नहीं हो सकता क्योंकि राजनीतिक हालात अलग हैं. मंत्री ने माना कि कैबिनेट में फेरबदल और राजनीतिक नियुक्तियां लंबित हैं जो अक्टूबर के बाद हो सकती है. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें