मॉडल के जरिए राजस्थान के मंत्री को हनीट्रैप में फंसाने की थी साजिश, दो गिरफ्तार

Somya Sri, Last updated: Wed, 2nd Feb 2022, 11:29 AM IST
  • राजस्थान पुलिस ने ऐसे दो लोगों को गिरफ्तार किया है जो जोधपुर की एक मॉडल के जरिए राज्य के एक मंत्री को हनीट्रैप में फंसाने की साजिश रच रहे थे. पुलिस ने बताया कि मॉडल का नहाते हुए वीडियो शूट कर उसे ब्लैकमेल किया गया और मंत्री को हनीट्रैप में फंसाने के लिए दबाव बनाया गया. हाल ही में मॉडल ने आत्महत्या का प्रयास किया था.
भीलवाड़ा के अक्षत और दीपाली को पुलिस ने किया गिरफ्तार (फोटो साभार- लाइव हिंदुस्तान)

जयपुर: राजस्थान से एक सनसनीखेज खबर सामने आ रही है. राजस्थान पुलिस ने ऐसे दो लोगों को गिरफ्तार किया है जो मॉडल के जरिए राजस्थान के एक मंत्री को हनीट्रैप में फंसाने की साजिश रच रहा था. राजस्थान पुलिस ने उसी मॉडल के बयान पर दो लोगों को हिरासत में ले लिया है. हाल ही में जोधपुर की रहने वाली मॉडल गुनगुन ने आत्महत्या करने की कोशिश की थी. फिलहाल वो एसडीएम अस्पताल में भर्ती है जहां उसका इलाज चल रहा है. मॉडल ने पुलिस को ये भी बताया कि नहाते हुए उसका वीडियो बनाकर उसे ब्लैकमेल किया जा रहा था. साथ ही उसे राज्य के एक मंत्री को हनीट्रैप में फंसाने को कहा गया था.

जानकारी के मुताबिक राजस्थान के भीलवाड़ा में मॉडलिंग के लिए आई जोधपुर की गुनगुन का अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल किया जा रहा था. भीलवाड़ा के ही रहने वाले अक्षत उर्फ नितिन शर्मा और दीपाली ने मॉडल गुनगुन का नहाते हुए वीडियो शूट कर लिया था. इसके बाद अक्षत और दीपाली ने गुनगुन को उदयपुर में सर्किट हाउस में एक मंत्री के साथ रात बिताने के लिए कहा. ऐसा नहीं करने पर वीडियो लीक की ब्लैकमेलिंग से परेशान होकर गुनगुन वहां से भाग गई. गुनगुन वहां से भागकर वापस जोधपुर आ गई और यहां किसी होटल से सातवीं मंजिल से छलांग लगाकर आत्महत्या करने का प्रयास किया.

गहलोत कैबिनेट की बैठक आज,आधा दर्जन बिल रखे जाने की संभावना,हो सकते हैं अहम फैसले

हालांकि गुनगुन बच गयी और उसे गंभीर हालात में एमडीएम अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया. जहां पुलिस ने उसके बयान के आधार पर भीलवाड़ा के अक्षत और दीपाली को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस का कहना है कि अक्षत खुद को पत्रकार बताकर कई प्रभावशाली लोगों से मिलता जुलता रहा है. इधर एसीपी देरावर सिंह ने बताया, " साल 2016 को जयपुर में हनी ट्रैप मामले में अक्षत पकड़ा गया था. उस दौरान 17 लोगो के साथ अक्षत भी गिरफ्तार हुआ था. वहीं 2019 में भी हनी ट्रैप के मामले में अक्षत के खिलाफ मामला दर्ज हुआ था. पुलिस ने अक्षत के पास प्रेस कार्ड भी बरामद किया है. जिससे वह अपने आप को पत्रकार बताता था."

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें