जीजा ने साली का गला घोंटकर कुएं में फेंका, जानें कैसे रही जिंदा

Komal Sultaniya, Last updated: Sat, 5th Mar 2022, 7:01 PM IST
  • राजस्थान के अलवर शहर कोतवाली थाना इलाके की रहने वाली लड़की करीब 35 घंटे तक जिस कुएं में जिंदा मिली थी, उसमें बड़ी संख्या में सांप और बिच्छू जैसे जैसे जीव रहते हैं. पुलिस ने पूछताछ की तो पता चला कि जीजा ने साली का गला घोट कर कुएं में फेंका है.
जीजा ने साली का गला घोंटकर कुएं में फेंका, जानें कैसे रही जिंदा (file photo)

जयपुर. राजस्थान के अलवर शहर के कोतवाली थाना इलाके की रहने वाली एक छात्रा दो दिन पहले जीडी कॉलेज जाने के बाद लापताहो गई थी. अलवर शहर के आकाशवाणी केंद्र के पास एक कुएं से घायल अवस्था में बरामद किया है. हैरान करने वाली बात यह है कि लड़की करीब 35 घंटे तक जिस कुएं में जिंदा मिली थी, उसमें बड़ी संख्या में सांप और बिच्छू जैसे जैसे जीव रहते हैं. पुलिस ने पूछताछ की तो पता चला कि जीजा ने साली का गला घोट कर कुएं में फेंका है.

आपको बता दें कि लड़की घर से कॉलेज जाने के बाद अचानक लापता हो गई थी. जिसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट अलवर शहर कोतवाली में दर्ज कराई गई थी. इस मामले में पुलिस ने आरोपी रिश्तेदार को हिरासत में लिया है. पुलिस अधीक्षक तेजस्विनी गौतम ने बताया कि दो मार्च से लापता लड़की को खोजने में पुलिस लगातार लगी हुई थी. उस बालिका को कोतवाली पुलिस की स्पेशल टीम ने कुएं से सही सलामत ढूंढ कर बाहर निकाला. लड़की घायल थी, इसलिए उसे अस्पताल पहुंचाया.

नाले में मिला महिला सिपाही का शव, प्रेम-प्रसंग के कारण हिरासत में नायब तहसीलदार

पुलिस के द्वारा शहर में लगे सीसीटीवी कैमरा खंगालने के बाद मालूम चला कि यह लड़की अपने जीजा के साथ जाती हुई दिखाई दी है. जीजा को पकड़कर पूछताछ की तो उसने बताया उसने गला घोट कर कुएं में फेंका है. एनडीआरएफ और एफएसएल टीम की सहायता से मंगल विहार स्थित नगर विकास न्यास के खाली प्लॉट में बने कुएं से उस लड़की को जिंदा निकाला गया. पुलिस अधीक्षक के अनुसार प्रारंभिक पूछताछ में लड़की के जीजा ने बताया कि उसने पहले उसका गला घोटा फिर उसे कुएं में धक्का दे दिया उसका इरादा इसकी हत्या करने का था.

उन्नाव दलित युवती हत्या: कब्र से शव निकाल कर दोबारा हुआ पोस्टमार्टम, दोनों रिपोर्ट अलग, हंगामा

जीजा ने जिस कुएं में बालिका को फेंका वो कुआं करीब 150 फुट गहरा था. बालिका को करीब 11 बजे ही कुएं में फेंकने की बात सामने आ रही है. कुएं में सांप, बिच्छू और गोहरा सहित अन्य जहरीले कीड़े भी थे. जब एडीआरएफ की टीम कुएं में उतरीं तो हतप्रद रह गईं. बच्ची कुएं के कोने में बैठी थी. सिर से खून बह रहा था. करीब 36 घंटे बालिका भूखी प्यासी कुएं में रही. किसी भी जीव ने उसे हानि नहीं पहुंचाई. बालिका हल्का-हल्का बोल रही थी, लेकिन हालात गंभीर थी. सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से बालिका को तलाशा गया. रात के अंधेरे में टीम के सदस्य कुएं में उतरते हुए घबरा रहे थे लेकिन बालिका के मूमेंट को देखते हुए टीम के सदस्य रात को ही कुएं में उतरे और लड़की को निकाल लाए.

राजस्थान के अलवर शहर के कोतवाली थाना इलाके की रहने वाली एक छात्रा दो दिन पहले जीडी कॉलेज जाने के बाद लापताहो गई थी. अलवर शहर के आकाशवाणी केंद्र के पास एक कुएं से घायल अवस्था में बरामद किया है. हैरान करने वाली बात यह है कि लड़की करीब 35 घंटे तक जिस कुएं में जिंदा मिली थी, उसमें बड़ी संख्या में सांप और बिच्छू जैसे जैसे जीव रहते हैं. पुलिस ने पूछताछ की तो पता चला कि जीजा ने साली का गला घोट कर कुएं में फेंका है.

आपको बता दें कि लड़की घर से कॉलेज जाने के बाद अचानक लापता हो गई थी. जिसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट अलवर शहर कोतवाली में दर्ज कराई गई थी. इस मामले में पुलिस ने आरोपी रिश्तेदार को हिरासत में लिया है. पुलिस अधीक्षक तेजस्विनी गौतम ने बताया कि दो मार्च से लापता लड़की को खोजने में पुलिस लगातार लगी हुई थी. उस बालिका को कोतवाली पुलिस की स्पेशल टीम ने कुएं से सही सलामत ढूंढ कर बाहर निकाला. लड़की घायल थी, इसलिए उसे अस्पताल पहुंचाया.

नाले में मिला महिला सिपाही का शव, प्रेम-प्रसंग के कारण हिरासत में नायब तहसीलदार

पुलिस के द्वारा शहर में लगे सीसीटीवी कैमरा खंगालने के बाद मालूम चला कि यह लड़की अपने जीजा के साथ जाती हुई दिखाई दी है. जीजा को पकड़कर पूछताछ की तो उसने बताया उसने गला घोट कर कुएं में फेंका है. एनडीआरएफ और एफएसएल टीम की सहायता से मंगल विहार स्थित नगर विकास न्यास के खाली प्लॉट में बने कुएं से उस लड़की को जिंदा निकाला गया. पुलिस अधीक्षक के अनुसार प्रारंभिक पूछताछ में लड़की के जीजा ने बताया कि उसने पहले उसका गला घोटा फिर उसे कुएं में धक्का दे दिया उसका इरादा इसकी हत्या करने का था.

उन्नाव दलित युवती हत्या: कब्र से शव निकाल कर दोबारा हुआ पोस्टमार्टम, दोनों रिपोर्ट अलग, हंगामा

जीजा ने जिस कुएं में बालिका को फेंका वो कुआं करीब 150 फुट गहरा था. बालिका को करीब 11 बजे ही कुएं में फेंकने की बात सामने आ रही है. कुएं में सांप, बिच्छू और गोहरा सहित अन्य जहरीले कीड़े भी थे. जब एडीआरएफ की टीम कुएं में उतरीं तो हतप्रद रह गईं. बच्ची कुएं के कोने में बैठी थी. सिर से खून बह रहा था. करीब 36 घंटे बालिका भूखी प्यासी कुएं में रही. किसी भी जीव ने उसे हानि नहीं पहुंचाई. बालिका हल्का-हल्का बोल रही थी, लेकिन हालात गंभीर थी. सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से बालिका को तलाशा गया. रात के अंधेरे में टीम के सदस्य कुएं में उतरते हुए घबरा रहे थे लेकिन बालिका के मूमेंट को देखते हुए टीम के सदस्य रात को ही कुएं में उतरे और लड़की को निकाल लाए.

|#+|

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें