राजस्थान की पूर्व विधानसभा अध्यक्ष नहीं कर पाएंगी अपने पति के अंतिम दर्शन

Smart News Team, Last updated: 09/08/2020 10:48 AM IST
  • राजस्थान की पहली महिला विधानसभा अध्यक्ष सुमित्रा सिंह खुद कोरोना से जंग लड़ रही है वही उनके पति कोरोना से जंग हार चुके है। सुमित्रा सिंह अस्पताल में भर्ती है। अपने पति के अंतिम दर्शन नहीं कर पायेंगी
सुमित्रा सिंह फ़ाइल फ़ोटो 

जयपुर - कोरोना ने सब कुछ बदल कर रख दिया फिर कहे जीवन हो या मौत. एक तरफ कोरोना से जंग जारी है तो खुद के परिवार में कोरोना से हुई मौत में अंतिम संस्कार का न होना यह किसी दर्द से काम नहीं. बात करे राजस्थान की पहली महिला विधानसभा अध्यक्ष सुमित्रा सिंह की तो आज यह दर्द वो सहन कर रही है. सुमित्रा सिंह राजस्थान के झुंझनू से 9 बार विधायक रही अपने इलाकों में तमाम लोगों  की अंतिम यात्रा में शामिल हुई. लेकिन आज दुर्भाग्य है की वो खुद अपने पति की अंतिम यात्रा में शामिल नहीं हो पाएंगी. कोरोना से पॉज़िटिव होने की वजह से उनके पति की शनिवार को मृत्यु हो गई.

सुमित्रा सिंह का पूरा परिवार कोरोना से संक्रमित है और वो खुद अस्पताल में भर्ती है जिसके चलते न तो वो खुद और न ही कोई परिजन पति नाहर सिंह की अंतिम यात्रा में शामिल हो पाएंगे.

क्या है पूर्व विधानसभा अध्यक्ष का राजनीतिक जीवन

सुमित्रा सिंह को राजस्थान की पहली महिला विधानसभा अध्यक्ष होने का गौरव तो प्राप्त है ही वो राजस्थान के झुंझनू से 1952 में चुनाव जीत कर विधायक बनी तब ही सुमित्रा सिंह और नाहर सिंह जी की शादी हुई. 9 बार विधायक रहीं। पूरे राजनीतिक  जीवन में उनके पति साये की तरह उनके साथ रहे.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें