राजस्थान में कानपुर के चार एटीएम हैकर गिरफ्तार, 1.92 लाख कैश और 49 ATM कार्ड बरामद

Sumit Rajak, Last updated: Mon, 15th Nov 2021, 11:50 AM IST
  • राजस्थान की बाड़मेर जिले की बालोतरा पुलिस ने देशभर में एटीएम फ्रॉड करने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए उत्तर प्रदेश के रहने वाले चार लोगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने आरोपी के पास से 1.92 लाख रुपये, 49 एटीएम कार्ड और एक कार जब्त की है. एटीएम कार्ड से 15 लाख रुपए का गबन कर चुके है.
प्रतीकात्क फोटो

 जयपुर. राजस्थान की बाड़मेर जिले की बालोतरा पुलिस ने देशभर में एटीएम फ्रॉड करने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए उत्तर प्रदेश के रहने वाले चार लोगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने आरोपी के पास से 1.92 लाख रुपये, 49 एटीएम कार्ड और एक कार जब्त की है. कानपुर का रहने वाले सरगना ने हैकिंग सीखने के बाद गिरोह बनाया. जिसके बाद एटीएम हैक करके ठगी का धंधा शुरू किया था. आरोपितों ने अबतक एटीएम कार्ड से 15 लाख रुपए का गबन कर चुके हैं. बालोतरा पुलिस ने इसके लिए स्पेशल टीम बनाई  गई. पुलिस के द्वारा संदिग्धों से पूछताछ के दौरान बड़ा खुलासा हुआ.

बाड़मेर जिला स्थित एसबीआइ की बालोतारा के नाकोड़ा रोड शाखा के अकाउंटेंट महेश कुमार ने कुछ दिनों पहले बैंक की  10 शाखाओं से 15 लाख रुपये से अधिक की रकम निकाले जाने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी. रविवार को पुलिस ने टीम बनाकर एटीएम हैकर गैंग के चार सदस्यों को गिरफ्तार किया. पूछताछ के दौरान पता चला कि यूपी कानपुर, चकेरी शिवपुरी निवासी प्रशांत यादव उर्फ राजू, पटेल नगर निवासी कुलदीप पाल, महराजपुर निवासी सूरज, मूलरूप से उरई निवासी अजय कुमार  चारो आरोपियों एटीएम मशीनों से छेड़छाड़ कर रुपए निकालने की बात को कबूल किया.

सावधान! अगर आपने गूगल पर खोजा हेल्पलाइन नंबर तो जा सकती है कमाई, जानें क्यों

पुलिस ने आरोपितों के पास से 1.92 लाख रुपये, 49 एटीएम कार्ड मिले हैं. जो अलग-अलग बैंक के हैं और एक कार बरामद की. यह एटीएम कार्ड दोस्तों से इक्कठा करते थे.पुलिस ने बताया कि  गैंग का सरगना कुलदीप पाल है. आरोपित एटीएम से छेड़छाड़ कर उसमें से रकम गबन किया. आरोपितों ने 10 एटीएम से 15 लाख रुपये से अधिक की रकम गबन कर चुके है.

पुलिस ने कहा कि चकेरी निवासी कुलदीप 2017 में नौबस्ता निवासी कमलकांत के साथ एटीएम हैकिंग करता था. कुलदीप लोगों से एटीएम कार्ड लेकर कमलकांत को देता था. जिसके बदले में कमलकांत उसे प्रति एटीएम के 1500 से 5000 रुपये देता था कमलकांत से ही .कुलदीप ने एटीएम हैकिंग सीखी. दोनों में विवाद हो गया. जिस पर कुलदीप ने अपना नया गैंग बनाकर हैकिंग शुरू कर दी.कमलकांत को भी उड़ीसा पुलिस ने एटीएम हैकिंग के मामले में जेल भेजा था.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें