राजस्थान: रोड एक्सीडेंट के घायलों को जल्दी पहुंचाएं अस्पताल, सरकार देगी कैश प्राइज

Smart News Team, Last updated: Thu, 16th Sep 2021, 7:38 PM IST
  • राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार सड़क हादसे में घायल हुए लोगों को समय पर इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाने वालों को पुरस्कार देगी. राजस्थान मुख्यमंत्री चिरंजीवी जीवन योजना के तहत ऐसा करने वालों को 5 हजार रुपए और सर्टिफिकेट से सम्मानित किया जाएगा.
फोटो- CM अशोक गहलोत

जयपुर: अक्सर सड़क हादसों में घायलों की समय से इलाज न मिलने की वजह से जान चली जाती है.  वहां से गुजर रहे लोग मौके पर खड़े होकर वीडियो तो बना लेते हैं लेकिन घायल को अस्पताल पहुंचाने का काम कम ही लोग करते हैं. कई बार कोई एंबुलेंस या पुलिस को तो बता देते हैं लेकिन किसी भी लफड़े से बचने के लिए घायल अस्पताल नहीं ले जाते. ऐसे में राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार ने नई पहल की है. कांग्रेस सरकार एक ऐसी योजना लाई है जिसके तहत घायलों को जल्द से जल्द अस्पताल पहुंचाने वाले व्यक्ति को 5 हजार रुपयों का इनाम और सर्टिफिकेट देकर सम्मानित किया जाएगा.

गौरतलब है कि राजस्थान CM अशोक गहलोत ने मुख्यमंत्री चिरंजीवी जीवन योजना की शुरुआत की है जिसका उद्देश्य घायल मरीजों की जान बचाना है. इस योजना के तहत मदद करने वाले व्यक्ति से हॉस्पिटल में घायल व्यक्ति के इलाज के लिए किसी तरह का कोई पैसा भी नही लिया जाएगा. हालांकि इनाम की राशि उसी हालत में मिलेगी जब दुर्घटना में घायल व्यक्ति की स्थिति गंभीर हो.

यूपी का टूटेगा रिकॉर्ड, दोबारा बनूंगा मुख्यमंत्री, 350 सीट से अधिक जीतेगी भाजपा- सीएम योगी आदित्यनाथ

गंभीर रूप से घायल नहीं होने व्यक्ति की मदद करने वाले को सर्टिफिकेट देकर सम्मानित किया जाएगा. सरकारी एम्बुलेंस, निजी एम्बुलेंस के कर्मचारी, PCR वैन और ड्यूटी पर तैनात पुलिस कर्मचारियों और घायल व्यक्ति के सगे-संबंधियों को इस योजना के तहत इनाम राशि नहीं दी जाएगी. इस योजना का लाभ पाने वाले व्यक्ति को अपनी पूरी जानकारी हॉस्पिटल में तैनात कैजुअल्टी मेडिकल ऑफिसर (CMO) को देनी होगी.

वहां उस व्यक्ति को अपना नाम, पता, मोबाइल नंबर और बैंक खाता संख्या देना होगा. CMO की रिपोर्ट पर ही तय होगा कि व्यक्ति गंभीर रूप से घायल था या नहीं और उसे तुरंत इलाज की जरूरत थी या नहीं? CMO ही रिपोर्ट तैयार करके डायरेक्टर (पब्लिक हेल्थ) को भिजवाएगा, इसी आधार पर पुरस्कार दिया जाएगा.

MP हाईकोर्ट का आदेश- सिर्फ माला पहनाने से नहीं हो जाती हिंदू शादी, इसके लिए...

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें