राजस्थान का सियासी संग्राम थमा, प्रियंका गांधी से मुलाक़ात से बदली कहानी

Smart News Team, Last updated: 11/08/2020 08:29 AM IST
  • राजस्थान का सियासी संग्राम अब थमता नजर आ रहा है. सचिन पायलट की राहुल गाँधी और प्रियंका गाँधी वाड्रा से मुलाकात के बाद मामला सुलझता नजर आ रहा है. वहीं बागी विधायक भंवरलाल शर्मा भी मुख्यमंत्री से मिल कर लौटे.
भँवर लाल शर्मा 

राजस्थान में पिछले करीब एक माह से चल रही सरकार की अस्थिरता अब दूर होती दिखाई दे रही है. राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा से सचिन पायलट की मुलाकात हुई और उसके बाद बागी विधायक पार्टी के साथ आते हुए नजर आए. पायलट खेमे के बागी विधायक भंवरलाल शर्मा आज शाम अचानक मुख्यमंत्री निवास पर अशोक गहलोत से मुलाकात करने पहुंचे और करीब आधे घंटे बाद सीएम हाउस से बाहर निकले.

इसके बाद अपने निवास पर पत्रकारों से वार्ता करते हुए भंवरलाल शर्मा ने कहा कि उनके क्षेत्र में विकास कार्य नहीं हुए थे. इसी बात को लेकर वे नाराज थे. उन्होंने कहा कि घर में नाराजगी चलती रहती हैं. गिले-शिकवे होते हैं और वे दूर हो जाते हैं.

शर्मा ने कहा कि मैंने कभी पार्टी को नहीं छोड़ा था. अब गिले-शिकवे दूर हो चुके हैं और मैं अपने घर वापस आ चुका हूं. वहीं, पायलट के बारे में पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि पायलट की राहुल गांधी से मुलाकात हुई है. उन्होंने इसे घर का मामला बताया और कहा कि अब नाराजगी दूर हो चुकी है.

अन्य विधायक पर ये बोले शर्मा

वहीं, पायलट खेमे के अन्य विधायकों की वापसी पर भंवरलाल शर्मा ने कहा कि सब क्लियर हो जाएगा. उन्होंने कहा कि अन्य विधायक भी पार्टी के साथ होंगे. शर्मा ने कहा कि अगले पांच साल सरकार चलेगी . वहीं, अशोक गहलोत या सचिन पायलट में से किस के साथ होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि वे कांग्रेस पार्टी के साथ है. साथ ही कहा कि राजस्थान में सरकार पूरी तरह से सुरक्षित है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें