जयपुर : अब डिजिटल प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध होगा रोजगार संदेश पाक्षिक

Smart News Team, Last updated: 26/08/2020 07:52 AM IST
  • कौशल नियोजन, उद्यमिता एवं रोजगार विभाग शासन सचिव डॉ. नीरज के पवन की अध्यक्षता में हुई बैठक जल्द ही लांच किया जाएगा मोबाइल एप्लीकेशन, उपलब्ध होंगी सभी रोजगार संबंधी जानकारियां बदलते परिवेश में रोजगार संदेश पाक्षिक न्यूज लेटर को और अधिक उपयोगी व सरल बनाया जाएगा
Rojgar Sandesh (File photo)

जयपुर। कोरोना का हाल में रोजगार संदेश वार्षिक न्यूज़लेटर को अब और भी सरल और रोचक ढंग से प्रस्तुत किया जाएगा. इसके लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं.

साथ ही शासन द्वारा इसमें बदलाव किए जाने की मंजूरी दे दी गई है. इससे अब आसानी से लोग मनचाहे कलेवर में अपने उपयोग की चीजें मोबाइल में भी देख सकेंगे. रोजगार संदेश पाक्षिक बदलते परिवेश में नए कलेवर के साथ अब डिजिटल प्लेटफॉर्म पर होगा. इसे और अधिक, उपयोगी, प्रभावशाली बनाया जाएगा.

कौशल नियोजन,उद्यमिता एवं रोजगार विभाग शासन सचिव डॉ. नीरज के पवन की अध्यक्षता में मंगलवार को राजस्थाान रोजगार संदेश पाक्षिक के नए कलेवर को लेकर झालाना डूंगरी स्थित राजस्थान कौशल एवं आजीविका विकास निगम के कॉन्फ्रेंस हॉल में बैठक आयोजित की गई.

नामचीन कंपनियों की भर्तियों की सूचना

बैठक मेंं कौशल नियोजन सचिव डॉ. पवन ने बताया कि बदलते परिवेश में रोजगार संदेश पाक्षिक न्यूज लेटर को और अधिक उपयोगी व सरल बनाया जाएगा. इससे प्रदेश के युवाओं को रोजगार के अधिक से अधिक अवसरों की जानकारी समय पर मिल सकेगी. दूरदराज गांवों में बैठे लोग भी समय पर रोजगार से जुड़ी जानकारियां प्राप्त कर सकेंगे. इसे और भी सरल बनाया जा रहा है. इससे अब मोबाइल में भी इसे आसानी से देखा जा सकेगा. जहां रोजगार से जुड़ी तमाम सारी जानकारियां सरल व सुलभ तरीके में उपलब्ध होंगे. युवाओं को ध्यान में रखते हुए इसे तैयार किया जा रहा है. साथ ही लॉकडाउन के चलते इसके फीचर में बदलाव किया जा रहा है ताकि घर बैठे मोबाइल में भी इसे आसानी से चलाया जा सके.

उन्होंने बताया कि रोजगार संदेश में सरकारी नौकरियों के विज्ञापनों की सूचनाओं के साथ-साथ निजी क्षेत्र की नामचीन कंपनियों के भर्तियों की सूचना उपलब्ध करवाई जाएगी.

रोजगार संदेश की महत्ता को लेकर अधिकारियों से मांगे गए थे सुझाव

शासन सचिव डॉ. पवन ने बैठक में उपस्थित सभी अधिकारियों से कोरोना काल में रोजगार संदेश की महत्ता एवं रोजगार संदेश के कलेवर को बदलने के सुझाव मांगे गए थे.

बैठक में कई महत्वपूर्ण निर्णय भी लिए गए. इनमें रोजगार संदेश को भविष्य में ई-पत्रिका एवं डिजीटल माध्यम पर लॉन्च करने का सुझाव रखा गया.

साथ ही रोजगार संदेश में सरकारी रोजगार विज्ञापन के साथ ही निजी कंपनियों से जुड़ी नौकरियों के विज्ञापनों को भी जगह देने का सुझाव रखा गया.

जल्द ही तैयार होगा मोबाइल एप्लीकेशन, उपलब्ध होगी सभी जानकारी

शासन सचिव नीरज के पवन ने रोजगार संदेश का मोबाइल एप्प एवं डिजीटल संस्करण जल्द से जल्द लॉन्च करने के निर्देश दिए है. उन्होंने राज कौशल पोर्टल के जरिए भी रोजगार संदेश को प्रचारित करने का सुझाव दिए.

साथ ही, उन्होंने कौशल से जुड़ी सरकारी एवं निजी संस्थाओं को एक ही प्लेटफॉर्म पर लाने का सुझाव भी दिया. उन्होंने भविष्य में रोजगार संदेश के मूल्य को बढ़ाने के भी निर्देश दिए.

रोजगार संदेश के कलेवर को बेहतर बनाने के लिए निजी संस्थाओं विशेषज्ञों की सेवाएं भी ली जाएंगी एवं जल्द ही इसे नए तरीके से लॉन्च किया जाएगा.

ये रहे मौजूद

बैठक में राजस्थान कौशल आजीविका मिशन के प्रबंध निदेशक विष्णु चरण मल्लिक एवं रोजगार सेवा निदेशालय के अधिकारियों के साथ ही आईटीआई, आरएसएलडीसी, श्रम विभाग, सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग, फैक्ट्री एवं बॉयलर्स विभाग, उद्योग विभाग एवं कौशल प्रशिक्षण के क्षेत्र में कार्यरत निजी कंपनियों के प्रतिनिधि भी उपस्थित रहे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें