RAS Recruitment: आरक्षित अभ्यर्थियों की सामान्य वर्ग में नियुक्ति पर HC ने पूछा सवाल

Smart News Team, Last updated: Sat, 3rd Jul 2021, 6:49 PM IST
  • आरएएस भर्ती की मुख्य परीक्षा मामले में राजस्थान हाईकोर्ट ने पूछा है कि इन्हें अंतिम चयन में अनारक्षित पदों पर नियुक्ति कैसे दी गई? इस मामले से जुड़ी याचिका में सुनवाई करने के दौरान राजस्थान हाईकोर्ट ने यह सवाल पूछा है. 
राजस्थान हाईकोर्ट ने आरएएस भर्ती मामले में सवाल पूछा है (फाइल फोटो)

जयपुर. आरएएस भर्ती की मुख्य परीक्षा में वर्ग पदों की संख्या के 15 गुना से अधिक अभ्यर्थियों को शामिल करने के मामले में राजस्थान हाईकोर्ट ने पूछा है कि इन्हें अंतिम चयन में अनारक्षित पदों पर नियुक्ति कैसे दी गई? कोर्ट ने इन पदों पर दी नियुक्तियों को अंतरिम मानते हुए याचिका के निर्णयाधीन रखा है।

 

याचिकाकर्ता मनीष अवस्थी व अन्य के अधिवक्ता विज्ञान शाह ने बताया कि राज्य सरकार ने आरएएस भर्ती नियमों में वर्ष 2020 में संशोधन किया, जो 2013 से लागू हुआ। संशोधन के अनुसार मुख्य परीक्षा में आरक्षित वर्ग के लिए तय की गई सीटों के लिए 15 गुणा अभ्यर्थियों से अधिक बुलाए गए अभ्यर्थियों को अंतिम चयन में आरक्षित वर्ग में ही नियुक्ति दी जा सकती है। 

बीवीजी कंपनी रिश्वत मामला: ACB ने राजाराम गुर्जर को फिर रिमांड पर लिया

याचिका में कहा गया कि इस संशोधन नियम की अनदेखी कर राज्य सरकार ने इन अभ्यर्थियों के सामान्य वर्ग से अधिक अंक आने के आधार पर अनारक्षित पदों पर चयन कर लिया। जबकि इन्हें मुख्य परीक्षा में ही इसी शर्त के साथ शामिल किया गया था कि इनका अंतिम चयन आरक्षित पदों पर ही किया जाएगा। इस पर न्यायाधीश एसपी शर्मा ने संबंधित अधिकारियों को नोटिस जारी किया है।

भारत सरकार की टीम ने निरीक्षण के बाद जयपुर के जाहोता को ‘ओडीएफ प्लस’ घोषित किया

याचिका में कहा गया कि इस संशोधन नियम की अनदेखी कर राज्य सरकार ने इन अभ्यर्थियों के सामान्य वर्ग से अधिक अंक आने के आधार पर अनारक्षित पदों पर चयन कर लिया। जबकि इन्हें मुख्य परीक्षा में ही इसी शर्त के साथ शामिल किया गया था कि इनका अंतिम चयन आरक्षित पदों पर ही किया जाएगा। इस पर न्यायाधीश एसपी शर्मा ने संबंधित अधिकारियों को नोटिस जारी किया है।

भारत सरकार की टीम ने निरीक्षण के बाद जयपुर के जाहोता को ‘ओडीएफ प्लस’ घोषित किया

|#+|

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें