राजस्थान हाईकोर्ट ने RAS Exam के रिजल्ट को रद्द किया, फिर से परिणाम जारी करने का निर्देश

MRITYUNJAY CHAUDHARY, Last updated: Tue, 22nd Feb 2022, 7:48 PM IST
  • RAS परीक्षा के रिजल्ट को आज राजस्थान हाईकोर्ट में जस्टिस महेंद्र गोयल ने रद्द कर दिया है. उन्होंने फिर से संशोधित परिणाम जारी करने के लिए राज्य सरकार को निर्देश दिए हैं. 25 और 26 फरवरी को होने वाली मेन्स परीक्षा को लेकर भी कुछ कहा नही जा सकता.
राजस्थान हाईकोर्ट ने RAS Exam के रिजल्ट को रद्द किया, फिर से परिणाम जारी करने का निर्देश

जयपुर. हाईकोर्ट ने राजस्थान प्रशासनिक सेवा (RAS) परीक्षा के रिजल्ट को आज रद्द कर दिया है. राजस्थान हाईकोर्ट ने RAS की प्रीलिम्‍स परीक्षा 2021 का रिजल्‍ट दोबारा जारी करने का राज्य सरकार को निर्देश दिया है. जस्टिस महेंद्र गोयल ने संशोधित परिणाम जारी करने के निर्देश दिए हैं. ये मामला परीक्षा में पूछे गए 12 विवादित सवालों के बाद शुरु हुआ. अंकित कुमार और अन्य की दायर याचिकाओं पर ये आदेश दिया गया हैं. 

राजस्थान प्रशासनिक सेवा की मेन्स परीक्षा 25 और 26 फरवरी को होनी थी, लेकिन हाईकोर्ट के आदेश के बाद उस पर संशय के बादल मंडरा गये हैं. राजस्थान प्रशासनिक सेवा परीक्षा में पूछे गए प्रश्नों के गलत उत्तर पर भी नंबर दिए गए थे. हाईकोर्ट ने राजस्थान लोक सेवा आयोग के एक्सपर्ट कमेंटी की रिपोर्ट भी ख़ारिज कर दी. बता दें कि राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने कल ही पत्र जारी कर आंदोलन कर रहे छात्रों को कहा था कि परीक्षा समय पर होगी. 

राजस्थान: अब औद्योगिक इकाइयों में लगा सकेंगे टूरिज्म यूनिट, गहलोत सरकार का फैसला

वहीं आंदोलन कर रहे छात्रों राज्य के पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट का समर्थन मिला है. सचिन पायलट के करीबी विधायक वेद प्रकाश सोलंकी और मुकेश भाकर ने जयपुर में छात्रों के बीच में जाकर उनका समर्थन किया था. हाईकोर्ट के इस आदेश के बाद से आंदोलन कर रहे छात्रों में खुशी की लहर है.

राजस्थान सरकार ने 27 अक्टूबर 2021 को 988 पदों पर निकाली गई RAS की प्रीलिम्‍स परीक्षा का आयोजन किया था. जिसका रिजल्‍ट 17 नवंबर 2021 को जारी किया गया था. जिसमें मेन्‍स परीक्षा के लिए 20,102 अभ्यर्थी क्वालीफाई हुए थे. कोर्ट के आदेश के बाद अब आयोग को नया रिजल्‍ट जारी करना होगा. जिसके बाद ही मेन्‍स परीक्षा आयोजित की जा सकेगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें