रक्षा बंधन पर बच्ची जन्म देने वाली 12 साल की बेटी को परिवार ने निकाला, रेप भाई ने किया था

SHOAIB RANA, Last updated: Wed, 25th Aug 2021, 6:44 PM IST
  • राजस्थान में चचेरे भाई की हवस का शिकार बनी 12 साल की एक रेप पीड़िता बेटी को परिवार ने घर से निकाल दिया है. पहले लड़की ने स्कूल के तीन सीनियर पर बलात्कार का आरोप लगाया था लेकिन बाद में उसने सच बता दिया. लड़की के पिता के बड़े भाई के 23 साल के बेटे को दुष्कर्म के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया है.
रक्षा बंधन पर बेटी जन्म देने वाली 12 साल की लड़की को परिवार ने निकाला, रेप भाई ने किया था

सचिन सैनी, जयपुर.

राजस्थान में संयुक्त परिवार पर कलंक एक हवसी भाई की करतूत ने 12 साल की मासूम नाबालिग बहन को एक बेटी का मां बना दिया. रविवार को जब पूरा देश भाई-बहन के प्यार का पर्व रक्षा बंधन मना रहा था तब जोधपुर में नौवीं क्लास की एक लड़की ने बच्ची को जन्म दिया था. ऊपर वाले की रहम से मां-बेटी की हालत खतरे से बाहर थी. बच्ची को पेट में दर्द की शिकायत के बाद अस्पताल में भर्ती कराने वाला परिवार नवजात को जन्म देने के बाद बेटी को घर से निकाल चुका है. लड़की की मां ने जच्चा-बच्चा को साथ रखने से इनकार कर दिया तो राजस्थान बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने बाल कल्याण कमेटी को दोनों की देखभाल करने कहा है.

लड़की ने पुलिस को दी शिकायत में बताया था कि नौ महीने पहले स्कूल से होमवर्क चेक कराकर लौटने के रास्ते में स्कूल के तीन सीनियर लड़कों ने उसका बलात्कार किया था. लेकिन पुलिस ने जब लड़की के बयान के हिसाब से नौ महीने पहले का डेट मिलाया तो पकड़ में आया कि उस समय तो कोरोना लॉकडाउन की वजह से स्कूल बंद थे. लड़की ने मंगलवार को बयान बदला तो पारिवारिक डोर और भाई-बहन का रिश्ता कलंकित हो गया. लड़की ने बताया कि जिस बच्चे को उसने जन्म दिया है वो उसके चचेरे भाई (पिता के भाई के बेटे) का है. लड़की ने बयान दिया है कि चचेरे भाई ने उसका रेप किया और पिछले आठ महीने से लगातार उसका शारीरिक शोषण कर रहा था.

5 साल के लौंडे कट्टा चलाते हैं डॉयलॉग पर महिला सिपाही ने लहराया रिवाल्वर, VIDEO वायरल

डीएसपी राजूराम चौधरी ने बताया कि लड़की के बयान के आधार पर उसके स्कूल में दसवीं में पढ़ने वाले तीनों सीनियर को पूछताछ के लिए लाया गया था. लेकिन जांच अधिकारी के सामने लड़की ने बयान दिया कि रेप स्कूल सीनियर ने नहीं बल्कि उसके पिता के बड़े भाई के बेटे ने किया था. पुलिस ने लड़की के बयान पर 23 साल के चचेरे भाई को गिरफ्तार कर लिया है. लोकल कोर्ट ने आरोपी लड़के को पूछताछ के लिए दो दिन के पुलिस रिमांड में दिया है.

पुलिस को लड़की के पहले बयान में विरोधाभास नजर आ गया था. एक तो उस समय कोरोना महामारी की वजह से स्कूल बंद थे और दूसरा घटनास्थल की जांच में भी पुलिस को कुछ मिला नहीं था. आखिरकार लड़की ने सच बता दिया जिससे पहले आरोपी माने गए स्कूल के तीन सीनियर का करियर बर्बाद होने से बच गया. तब राजस्थान बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष संगीता बेनीवाल ने लड़की से मुलाकात की थी और कहा था कि पीड़िता ने उन्हें बताया है कि 3-4 लोगों ने एक जीप में उसका अपहरण किया और फिर उसके साथ दुष्कर्म किया.

राजस्थान में अंतरजातीय विवाह करने पर गहलोत सरकार दे रही पांच लाख रुपये

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें