राजस्थान में समय में गुणवत्ता के साथ हो पूरा 16 मेडिकल कॉलेजों का कामः परसादी मीणा

Shubham Bajpai, Last updated: Wed, 12th Jan 2022, 10:13 AM IST
राजस्थान में बन रहे मेडिकल कॉलेजों के काम की समीक्षा के लिए आयोजित बैठक में शामिल हुए प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री परसादी लाल मीणा ने समय पर काम पूरा करने के निर्देश दिए. मीणा ने कहा प्रदेश में निर्माणाधीन सभी मेडिकल कॉलेजों का काम गुणवत्ता के साथ समय पर पूरा हो.
राजस्थान में समय में गुणवत्ता के साथ हो पूरा मेडिकल कॉलेजों का कामः परसादी मीणा (फोटो सभार सोशल मीडिया) 

जयपुर (भाषा). राजस्थान की राजधानी जयपुर में स्वास्थ्य सुविधाओं और प्रदेश में निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेजों के कामों को लेकर समीक्षा बैठक आयोजित की गई. बैठक में चिकित्सा शिक्षा मंत्री परसादी लाल मीणा ने मंगलवार को प्रदेश के 16 निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेज का कार्य निर्धारित समयावधि में गुणवत्ता के साथ पूर्ण कराने के निर्देश दिए हैं.

मीणा ने मंगलवार को चिकित्सा शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक के दौरान यह बात कही. उन्होंने कहा कि सभी मेडिकल कॉलेज का निर्माण 2023 तक पूर्ण हो जाएं ताकि प्रदेश में चिकित्सकों की कमी ना रहे. उन्होंने संबंधित मेडिकल कॉलेज के प्राचार्यों को भी निर्माण कार्य की नियमित जांच करने के निर्देश दिए.

राजस्थान में प्रेम प्रसंग के चलते प्रेमी ने ट्रेन से कूदकर की आत्महत्या

उन्होंने कहा कि सभी मेडिकल कॉलेज से संबद्ध अस्पतालों ने कोविड-19 के दौरान आमजन को बेहतर चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध कराने में कोई कसर नहीं छोड़ी, तीसरी लहर से बचाव के लिए भी सभी संस्थान पूर्णतया तैयार हैं.

चिकित्सा शिक्षा मंत्री ने बताया गया कि राजमेस सोसायटी के प्रथम चरण में सात मेडिकल कॉलेज स्वीकृत किए गए है. जिसमें भरतपुर, भीलवाड़ा, चूरू, सीकर, पाली, बाड़मेर व डूंगरपुर शामिल है.

द्वितीय चरण में धौलपुर एवं तृतीय चरण में नागौर, अलवर, चित्तौड़गढ़, बांसवाडा, बूंदी, बारां, श्रीगंगानर, सिरोही, करौली, जैसलमेर, झुंझुनूं, टोंक, दौसा, सवाईमाधोपुर एवं हनुमानगढ में मेडिकल कॉलेज स्वीकृत हैं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें