राजस्थान: पैसे ऐंठने के लिए लगाया गैंगरेप का झूठा आरोप, मास्टरमाइंड फरार, 2 अरेस्ट

Pallawi Kumari, Last updated: Sun, 12th Sep 2021, 12:40 PM IST
  • युवती ने साथी के साथ मिलकर पैसे ऐंठने के लिए दो लोगों पर काम में गैंग रेप करने का आरोप लगाया था. पुलिस ने मामले की पड़ताल की, जिससे झूठ का पर्दाफाश हुआ. आरोपी महिला और उसके साथी को रेप का झूठा आरोप लगाने के मामले में गिरफ्तार कर लिया गया है.
पैसे ऐंठने के लिए महिला ने लगाया गैंगरेप का झूठा आरोप, प्रतिकात्मक फोटो साभार-हिन्दुस्तान

राजस्थान: अलवर की सदर पुलिस ने शनिवार को मेरठ की एक महिला और उसके साथी को ब्लैकमेल करने और दो लोगों पर गैंगरेप का झूठा आरोप लगाने के मामले में गिरफ्तार किया है. महिला ने दो लोगों पर गैंगरेप की झूठी एफआईआर दर्ज कराई थी. पुलिस ने बताया कि महिला और उसके दोस्त ने पैसे ऐंठने के लिए दो लड़कों को जाल में फंसाया और उसके खिलाफ झूठा केस दर्ज कराया था.

महिला द्वारा 8 सितंबर को एफआईआर दर्ज कराने के बाद पुलिस ने मामले की जांच की, जिसमें उन्होंने इस दावे को झूठा बताया कि दो युवकों ने उसके साथ गैंगरेप किया. महिला के अनुसार उसके रिश्तेदार की बाइक रास्ते में खराब हो गई थी. इसलिए उसने कार में लिफ्ट मांगी थी.

इंदौर: कुएं में 10 दिन पुराना शव मिलने से हड़कंप, पुलिस को हत्या की आशंका

अलवर पुलिस अधीक्षक तेजस्विनी गौतम ने कहा,  मेरठ की रहने वाली 24 साल की महिला रवि यादव और दीपक मीणा के साथ एक मोबाइल चार्जर बनाने वाली फैक्ट्री में काम करती है. सभी ने मिलकर ब्लैकमेल करने और 1.5 लाख रुपये ऐंठने की प्लानिंग बनाई. पुलिस ने बताया कि, महिला और उसके रिश्तेदार रवि यादव को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि आरोपी दीपक मीणा, जिसने दिल्ली के दो लोगों को कार में बिठाकर गैंगरेप का आरोप लगाया था, वह अभी भी फरार है.

मेडिकल जांच में हुआ खुलासा- मेडिकल जांच में गैंगरेप की पुष्टि नहीं हुई और पुलिस को रेप के कोई सबूत भी नहीं मिले. ऐसे में पुलिस ने दूसरे तरीके से जांच शुरू की, जिसमें सच्चाई का खुलासा हुआ. महिला ने दोनों युवकों को एक से डेढ़ लाख रुपये में मामला सुलझाने की बात कही थी.

ढाई हजार की किश्त नहीं मिलने पर रिकवरी एजेंट ने किए दो बच्चे किडनैप, फिर...

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें