राजस्थान में विधायकों के फोन टेपिंग को पुलिस महानिदेशक ने बताया झूठ

Smart News Team, Last updated: 09/08/2020 09:34 AM IST
  • राजस्थान के सियासी संग्राम में गरमाया माहौल, राजस्थान में विधायकों की टेपिंग की उड़ी झूठी अफवाह के बाद राजस्थान के पुलिस महानिदेशक भूपेंद्र सिंह ने दिए जाँच के निर्देश
प्रतीकात्मक तस्वीर 

जयपुर, महानिदेशक पुलिस भूपेंद्र सिंह ने जैसलमेर के सूर्यगढ़ पैलेस में ठहरे आधा दर्जन विधायकों के फोन टेपिंग की आधारहीन व अफवाह फैलाने के संबंध में साइबर थाने में दर्ज मामले की जांच कर नियमानुसार कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं. महानिदेशक पुलिस श्री सिंह ने जयपुर पुलिस कमीशनर आनंद श्रीवास्तव को इस संबंध में तत्काल जांच की कार्यवाही पूर्ण कर दोषी व्यक्तियों के विरुद्ध कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं.

महानिदेशक पुलिस ने यह स्पष्ट किया है कि राजस्थान पुलिस के किसी भी युनिट द्वारा किसी भी विधायक या सांसद की टेपिंग न तो पूर्व में की गई और न ही वर्तमान में की जा रही है. इन्टरकाॅम से हुई बातचीत को रिकार्ड करने का आरोप भी मिथ्या व काल्पनिक है. राजस्थान पुुलिस हमेशा आपराधिक कृत्य को रोकने का कार्य करती है और अवैधानिक टेपिंग एक आपराधिक कृत्य है.

उल्लेखनीय है कि सोशल मीडिया पर सर्वथा आधारहीन, मिथ्या व भ्रम फैलाने की दृष्टि से एक तथाकथित सूचना प्रसारित की जा रही है कि जैसलमेर के सूर्यगढ पैलेस में ठहरे आधा दर्जन विधायकों के फोन अवैधानिक तरीके से टेप किये जा रहे हैं. राजस्थान पुलिस ने आम जन से कतिपय शरारती तत्वों द्वारा दुर्भावनावश एवं निहित स्वार्थवश सोशल मीडिया के जरिये फैलाई जा रही अफवाहों पर ध्यान नहीं देने की अपील की है. उन्होंने ने स्पष्ट किया है कि मिथ्या सूचनाओं का प्रसारण अवैधानिक है, अतः आमजन को मिथ्या सूचनाओं के प्रसारण से बचने की सलाह दी गई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें