राजस्थान रोडवेज बसों पर पेट्रोल की महंगाई बेअसर, नहीं बढ़ेगा किराया

Smart News Team, Last updated: Sat, 3rd Jul 2021, 6:20 PM IST
  • लगातार बढ़ रहे पेट्रोल और डीजल की कीमतों के बीच राजस्थान परिवहन विभाग ने रोडवेज बसों का किराया नहीं बढ़ाने का निर्णय लिया है। परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास की अध्यक्षता में राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम की बैठक में यह निर्णय हुआ. 
ग्रामीण परिवहन बस सेवा होगी शुरू (फाइल फोटो)

जयपुर.  प्रदेश सहित देशभर में पेट्रोल-डीजल के दाम हर रोज बढ़ रहे है, इसका भार यात्रियों की जेब पर भी पड़ रहा है। लेकिन राजस्थान रोडवेज में सफर करने वाले यात्रियों पर पेट्रोल-डीजल की मंगाई का कोई असर नहीं पड़ेगा। राजस्थान परिवहन विभाग ने रोडवेज बसों का किराया नहीं बढ़ाने का निर्णय किया है।

 

परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास की अध्यक्षता में राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम की समीक्षा बैठक हुई। इस बैठक के बाद खाचरियावास ने कहा कि राजस्थान रोडवेज की बसें राजस्थान का चेहरा हैं। प्रदेशवासियों को सुरक्षित परिवहन सुविधा देना हमारी मुख्य जिम्मेदारी हैं। राजस्थान रोडवेज की बसों को सभी रूटों पर संचालित किया जाएगा। 

भारत सरकार की टीम ने निरीक्षण के बाद जयपुर के जाहोता को ‘ओडीएफ प्लस’ घोषित किया

परिवहन मंत्री ने कहा कि यह पब्लिक सर्विस घाटे में जरूर है, इसके बावजूद जनकल्याण के लिए समर्पित राजस्थान रोडवेज की बसों के यात्री किराए में वृद्धि नहीं की जाएगी। रोडवेज की स्थिति मजबूत करने और इलेक्ट्रिक बसें चलाने के लिए वित्त विभाग, परिवहन विभाग और राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम के अधिकारियों के साथ जल्द बैठक होगी। बैठक में परिवहन मंत्री ने रोडवेज को घाटे से उबारने, सेवानिवृत कर्मचारियों को एकमुश्त बकाया देने, बस स्टैंडों की कायाकल्प करने और बजट घोषणाओं को शीघ्र पूरा करने के निर्देश दिए।

गांव-गांव तक परिवहन सुविधा पहुंचाने को 550 नई बसें की जाएगी सम्मिलित

परिवहन मंत्री खाचरियावास ने इस दौरान बताया कि रोडवेज को और मजबूत बनाने और गांव-गांव तक परिवहन सुविधा पहुंचाने के लिए जल्द ही 550 नई बसें सम्मिलित करने की कार्यवाही प्रक्रियाधीन है। गत वर्ष रोडवेज के बेड़ेे में 875 नई बसें शामिल कर परिवहन सुविधा बढ़ाई गई थीं।  

खाचरियावास ने कहा कि राजस्थान ट्रॉन्सपोर्ट इंफ्रास्ट्रक्चर डवलपमेंट फंड से रोडवेज के आधारभूत ढांचे को और मजबूत करने के अधिक सहायता के प्रयास किए जाएंगे। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि कर्मचारियों को समय पर वेतन मिले, इसके लिए जो भी आवश्यक संसाधन हो जुटाए जाए। उन्होंने कहा कि अस्थियों के विसर्जन के लिए उत्तरप्रदेश जाने वाली मोक्ष कलश योजना की बसों के संचालन के लिए उत्तरप्रदेश सरकार से निरंतर वार्ता चल रही हैं।

राजस्थान हाईकोर्ट ने तृतीय श्रेणी शिक्षक पद पर पदावनत पर लगाई अंतरिम रोक

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें