दुकान में ग्राहक की जगह जब पहुंचा मगरमच्छ, मचा हड़कंप, मुंह बांधकर ऐसे पकड़ा

Swati Gautam, Last updated: Mon, 18th Oct 2021, 7:30 PM IST
  • राजस्थान के सवाई माधोपुर में तालाब से निकले मगरमच्छ को दुकानों की ओर घुसते देख हड़कंप मच गया. सूचना मिलने पर रेस्क्यू टीम पहुंची और मगरमच्छ को पकड़कर सुरक्षित जंगल में छोड़ दिया.
आबादी क्षेत्र में जा घुसा 3 फीट का मगरमच्छ, रेस्क्यू टीम ने पहले पैर से मुंह दबाया फिर बांधी रस्सी (file photo)

जयपुर. राजस्थान में रणथंभौर नेशनल पार्क की खंडार रेंज के गिलाई सागर वन क्षेत्र से एक मगरमच्छ आबादी वाले क्षेत्र में आ घुसा. यह खबर फैलते ही पूरे गांव में हड़कंप मच गया. जैसे ही सवाई माधोपुर रोड स्थित बड़े तालाब से निकले मगरमच्छ को दुकानों की ओर घुसते हुए कुछ ग्रामीण लोगों ने देखा तो गांव में हल्ला मचा दिया. साथ ही जिन दुकानदारों के दुकानों में मगरमच्छ जाते देखा उन्हें जानकारी दी. जैसे ही लोगों ने दुकान की और जाकर देखा मगरमच्छ को देखते ही वे डर गए.

ग्रामीणों और दुकानदारों ने तुरंत यह सूचना वन विभाग को दी. सूचना मिलने पर विभाग के वनकर्मी गांव पहुंचे और मगरमच्छ को रेस्क्यू किया. धीरे-धीरे मगरमच्छ को रेस्क्यू करने की खबर गांव के आसपास वाले क्षेत्रों में भी फैल गई जिससे घटनास्थल पर लोगों की काफी भीड़ जमा हो गई. वन कर्मियों ने सबसे पहले मगरमच्छ के ठिकाने का पता लगाया और उसे पकड़ने की प्लानिंग शुरू कर दी. वन कर्मियों ने बताया कि मगरमच्छ 3 फीट लम्बा था, जिसका वजन करीब 10 किलो था.

REET 2021: अपनी मांगों को लेकर BSTC अभ्यर्थियों का धरना जारी, आमरन अनशन की चेतावनी

मगरमच्छ के ठिकाने का पता चलते ही वन कर्मियों ने मगरमच्छ पर पहले कपड़ा डाला फिर डंडे और पैर से मगरमच्छ का मुंह बंद कर दिया ताकि वह वन कर्मियों पर हमला न कर सके. इतने में दूसरे वन कर्मी ने मगरमच्छ के मुंह को रस्सी से बांध दिया. मगरमच्छ को कब्जे में लेते ही उसे जंगल में ले जाकर छोड़ दिया गया. मगरमच्छ के रेस्क्यू की कार्रवाई के दौरान वनकर्मी मोसराम ,बलराम, हरिवल्लभ आदि लोग शामिल रहे. वनपाल राजेन्द्र सैनी ने बताया कि ग्रामीणों ने सूचना दी थी कि आबादी क्षेत्र में मगरमच्छ आ गया है. इस पर टीम को मौके पर भेजा गया. जिसने रेस्क्यू कर मगरमच्छ को सुरक्षित जंगल में छोड़ दिया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें