राजस्थान में सोमवार से खुलेंगे स्कूल, बच्चों को भेजने को लेकर दुविधा में मां-बाप

Smart News Team, Last updated: Sun, 17th Jan 2021, 8:27 PM IST
  • राज्य के कई स्कूलों में सोमवार से पहले की तरह क्लास चलेंगी. लेकिन बड़े स्कूलों में ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनो माध्यम से क्लास चलेगी यानी जो स्टूडेंट्स स्कूल में क्लास आने के इच्छुक नहीं हैं, वे ऑनलाइन घर बैठकर वह क्लास ज्वाइन कर पढ़ाई कर सकते हैं.
राजस्थान में सोमवार से खुलेंगे स्कूल, बच्चों को भेजने को लेकर दुविधा में मां-बाप

जयपुर: कोरोनालॉक डाउन के 10 महीने बाद राजस्थान में 9 वीं से 12 वीं तक के स्कूल सोमवार से खुलेंगे. इसकी घोषणा राज्य सरकार के आदेश के बाद सभी जिलाधिकारियों ने पब्लिक नोटिस निकालकर की. अब स्कूलों में पहले भांति नियमित क्लास चलेंगी. इसके लिए जयपुर के लगभग सभी स्कूलों ने कोरोना दिशानिर्देशों के हिसाब से तैयारी कर ली है. स्कूलों के गेट पर सोशल डिस्टेंसिंग को बनाए रखने के लिए छह फूट की दूरी पर सफेद गोले बनाए गए हैं. एंट्री गेट पर ही थर्मल स्क्रीनिंग और हाथ सैनेटाइजेशन की व्यवस्था की गई है.

राज्य के कई स्कूलों में सोमवार से पहले की तरह क्लास चलेंगी. लेकिन बड़े स्कूलों में ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनो माध्यम से क्लास चलेगी यानी जो स्टूडेंट्स स्कूल में क्लास आने के इच्छुक नहीं हैं, वे ऑनलाइन घर बैठकर वह क्लास ज्वाइन कर पढ़ाई कर सकते हैं. वहीं, बच्चों को स्कूल भेजने पर अभी सभी पैरेंट्स एक राय नहीं है. कुछ की हां और कुछ की अब भी ना बनी हुई है.

अब राजस्थान पुलिस पर नजर रखेगी गहलोत सरकार, CM का आदेश- हर थाने में हों CCTV

कोरोना गाइडलाइन के तहत सबसे पहला प्रोटोकाल NO MASK NO ENTRY का रहेगा. स्कूल में किसी को भी प्रवेश करने के लिए मास्क पहनना जरुरी होगा. स्कूलों की एंट्री गेट और क्लास में प्रवेश करने से पहले सभी स्डूडेंट्स की थर्मल स्क्रीनिंग होगी. उनके शरीर का तापमान चेक किया जाएगा. स्कूल पहुंचने वाले स्टूडेंट्स को अपने अभिभावक का लिखित हस्ताक्षर युक्त सहमति पत्र लाना होगा. स्कूल के गेट पर ही इसे चेक किया जाएगा. इसके बाद ही कक्षा में प्रवेश करने दिया जायेगा.

कोरोना इफेक्ट: जयपुर सहित राजस्थान के 13 शहरों में जारी रहेगा नाइट कर्फ्यू

स्कूल परिसर में प्रवेश करने पर 6 फीट की दूरी रखकर ही लाइन में खड़ा होना होगा. इसके लिए कई स्कूलों में एंट्री गेट से क्लास तक सोशल डिस्टेंसिगं के लिऐ निशान लगाए गए हैं.अब एक क्लास में 15 से 20 बच्चे एक साथ बैठेंगे, ऑनलाइन व ऑफलाइन क्लास साथ चलेंगी. विद्याश्रम स्कूल के प्रशासनिक अधिकारी सुंदर राजपुरोहित ने बताया कि हमने प्रोटोकॉल के हिसाब से पूरी तैयारी कर रखी है. कल 9 बजे स्कूल खुलेगा. किसी स्टूडेंट्स पर दबाव नहीं डाला है. जिनकी इच्छा है वे जरूर आएं. ऑनलाइन मैसेज के जरिए स्टूडेंट्स के परिजनों की सहमति ली है.

जयपुर : निकाय चुनाव के लिए साढ़े 18 हजार से ज्यादा नामांकन, आज होगी जांच

उन्होंने बताया कि स्कूल में रुटीन में ऑफलाइन क्लासेज के साथ-साथ ऑनलाइन क्लासेज भी चलेंगी. मतलब जो बच्चे घर हैं वे पहले की तरह ऑनलाइन क्लास अटेंड कर सकेंगे. एक क्लास में 12 से 15 स्टूडेंट्स के बैठने की व्यवस्था की है. पहले एक क्लास में 40 से 50 बच्चे बैठते थे.

वहीं, इसी स्कूल की प्रिंसिपल प्रतिमा शर्मा ने बताया कि दो पारियों में स्कूल चलेगा. इनमें 9 वीं और 11 वीं के छात्रों का वक्त सुबह 10 बजे से दोपहर 1.30 बजे तक रहेगा. जबकि 10 वीं और 12 वीं के स्टूडेंट्स का स्कूल टाइम सुबह 9:30 बजे से दोपहर 12.45 तक रहेगा. इनमें सिर्फ मुख्य विषयों की पढ़ाई होगी. स्पोर्ट्स, म्यूजिक व अन्य ऐच्छिक क्लास नहीं लगेंगी.

जयपुर : राजस्थान से ताल्लुक रखने वाले पूर्व केंद्रीय मंत्री कमल मोररका का निधन

अभी भी कई पैरेंट्स की सहमति नहीं बन रही, लेकिन जल्द ही बढ़ेगी बच्चों की संख्या

अमेरिकन स्कूल के प्रिसिंपल और स्कूल शिक्षा परिवार के अध्यक्ष अनिल शर्मा ने कहा कि अभी कई स्कूलों में स्टूडेंट्स के परिजनों का बहुत ज्यादा रेस्पांस नहीं मिला है। वे अब भी तैयार नहीं है. लेकिन हमारा मानना है कि कुछ दिनों में स्कूल आने वाले स्टूडेंट्स की संख्या धीरे-धीरे बढ़ेगी.

पैरेंट्स ने कहा- जब बाजार में बेफिक्र होकर घूम रहे हैं तो स्कूल भेजने में कैसा डर

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें