तोता गायब होने पर डॉक्टर के घर ऐसा रंज की खाना तक छोड़ा, ढूंढने वाले को मिलेगा बड़ा इनाम

Mithilesh Kumar Patel, Last updated: Fri, 4th Feb 2022, 3:57 PM IST
  • राजस्थान के सीकर के मशहूर डॉक्टर डॉ. वीके जैन का ग्रे कलर का अफ्रीकन नस्ल का तोता बीते दो-तीन दिन पहले अचानक उड़कर कहीं और चल गया. और अभी तक वापस घर नहीं लौटा. काफी इंतजार के बाद अब डॉक्टर ने उसे ढूंढने के लिए अखबार में इनाम के साथ इश्तहार छपवाया है. साथ ही अपनी पूरी टीम को इस काम में लगा दिया है. 
घर से लापता हुआ पालतू तोता तो डॉक्टर दंपति हुए बेहद उदास

जयपुर. राजस्थान के सीकर में बसे मशहूर डॉक्टर वीके जैन के घर से तोता गायब हो गया है. बताया जा रहा है कि अफ्रीकन नस्ल के इस लापता हुए ग्रे कलर के तोते में उनकी जान बसती थी. बीते दो-तीन दिन पहले अचानक उनका पालतू तोता उड़कर कहीं और चल गया. और अभी तक वापस घर नहीं आया. काफी इंतजार के बाद अब डॉक्टर ने लापता तोते को ढूंढने के लिए अखबार में इनामी इश्तहार छपवाया है. साथ ही गायब हो चुके तोते को ढूंढने के लिए अपनी पूरी टीम को लगा दिया है.

डॉक्टर वीके जैन सीकर शहर के मशहूर डॉक्टरों में से एक है. डॉ. जैन की पत्नी अर्चना जैन भी पेशे से डॉक्टर हैं. दोनों पालतू तोते को बेहद प्यार करते थे. उस पालतू तोते में दंपत्ति डॉक्टर की जान बसती थी. लेकिन दो-तीन रोज पहले अचानक वह तोता उड़कर कहीं चल गया और वापस नहीं लौटा. काफी इंतजार के बाद अब डॉक्टर ने उसे ढूंढने के लिए अखबार में बड़ा इनामी इश्तहार भी दिया है.

नाईट कर्फ्यू खत्म, शादियों में 250 लोग, CM गहलोत ने जारी की नई कोरोना गाइडलाइंस

जानकारी के अनुसार डॉ. वीके जैन ने उसका नाम ‘कोको’ रखा था. इधर पिछले दो तीन दिन पहले लापता हुए तोते को वो खुद और उनकी टीम ने काफी इधर-उधर ढूंढा, लेकिन उसका कुछ पता नहीं चला. इससे डॉक्टर दंपति खासे उदास हैं. 

तोते को ढूंढने के लिए डॉक्टर जैन ने अपनी क्लिनिक की टीम को भी लगाया लेकिन ढूंढ पाने में सफल नहीं हो सकें. इसके बाद डॉक्टर जैन ने तोते को ढूंढने के लिए काफी बड़े इनाम के साथ अखबार में इश्तहार छपवाया है. हालांकि डॉक्टर जैन ने इनाम की रकम का जिक्र नहीं करवाया है. लेकिन डॉक्टर का कहना है कि तोता मिलने पर जितनी खुशी होगी उसी तरह का बड़ा इनाम दिया जाएगा.

कोको तोता के बारे में बताया जा रहा है कि वह इतना ट्रेंड है कि वह सैकड़ों शब्द बोल सकता है. डॉक्टर दंपति का इससे पूरा दोस्ताना व्यवहार है. डॉक्टर जैन ने बताया कि करीब दो साल पहले वे दो तोतों का जोड़ा 80 हजार रुपये में खरीदकर लाये थे. घर लाने के बाद कोको परिवार का सदस्य बन गया था. लेकिन अब कोको के बिना घर सूना-सूना लगता है. बस जैसे-तैसे करके वह मिल जाये तो अच्छा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें